क्लाथ मार्केट के हमलावर सरेंडर होने की फिराक में इधर उधर काट रहे फरारी, व्यापारियों में बढ़ रहा आक्रोश

इंदौर। गत मंगलवार को शहर के क्लॉथ मार्केट में बेरिकेट्स लगाने को लेकर
हुए विवाद के दौरान मार्केट अध्यक्ष हंसराज जैन सहित अन्य के साथ मारपीट,
धमकाने, गालीगलौज के आरोपी चार दिन बाद भी पुलिस पकड़ नही पाई है।
चर्चा कि वे लगातर बढ़ रहे दवाब के चलते कोर्ट अथवा पुलिस के समक्ष सरेंडर
करने की फिराक में है।
इस घटना को लेकर गत बुधवार को आक्रोशित व्यापारियों ने डीआईजी ऑफिस पहुंच
कर इन आरोपियों की गिरफ्तारी हेतु ज्ञापन भी दिया था, लेकिन अभी तक एक भी
आरोपी को पुलिस नहीं पकड़ पाई है।

इनमें से मुख्य आरोपी दिनेश शर्मा का पुराना अपराधिक रेकार्ड पता चलने के बाद पुलिस ने सारी फाईलें खुलवा ली है।
इधर जानकार सूत्रों का कहना है कि भाजपा से जुड़े दिनेश ने बचने के लिए अनेक पार्टी नेताओं के यहां जुगाड़ कर ली लेकिन कोई सफलता नहीं मिली
है। इसके चलते वह व उसके साथी आगामी सोमवार तक कोर्ट अथवा पुलिस के समक्ष सरेंडर होने की योजना बना रहे है। बताते है कि अभी वे इसलिए पुलिस के समक्ष हाजिर नही हो रहे है कि दो दिन छुट्टियों के कारण उनकी जमानत होने में दिक्कत आ सकती है।
इधर व्यापारियों में बढ़ रहे आक्रोश के बीच आसपास के अन्य जिलों के व्यापारिक संगठन भी इस मसले पर प्रदेश व्यापी आंदोलन की
बात कह रहे है लेकिन फिलहाल इंदौर क्लाथ मार्केट व्यापारी संगठन पुलिस को कार्रवाई के लिए कुछ समय देकर इंतजार के मूड में है।

यह था मामला

गत मंगलवार दोपहर क्लॉथ मार्केट स्थित महावीर चौक में पार्किंग के लिए
बेरिकेट्स लगाए जा रहे थे। बेरिकेट्स लगाने का कुछ हम्मालों द्वारा विरोध
किया गया। इसके चलते व्यापारी संघ के पदाधिकारियों और हम्माल संघ के
पदाधिकारियों में जोरदार बहस हो गई। बात बढ़ने पर दोनों पक्ष के कई लोग
आमने सामने आ गए और उनमें हाथापाई व मारपीट होने लगी। इसमें व्यापारी संघ
के हंसराज जैन सहित अन्य पदाधिकारी घायल हुए। व्यापारियों ने सराफा थाने
पहुंचकर मामले की शिकायत की। व्यापारियों की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी
दिनेश शर्मा, राजू हम्माल, सुनील अवस्थी, विजय बागोरा व उनके अन्य
साथियों पर बलवा, मारपीट, धमकाने और गाली गलौज का केस दर्ज किया है।
मुख्य आरोपी दिनेश शर्मा भाजपा का नेता बताया जा रहा है।

Spread the love

18

इंदौर