Jan 24 2019 /
12:15 PM

पाकिस्तानी एजेंटों के साथ मिलकर कर रहे थे अंतरराष्ट्रीय फर्जी लॉटरी का संचालन, इंदौर STF ने 6 को पकड़ा, एक रिमांड पर, 5 जेल गए

इंदौर। पाकिस्तानी एजेंटों के साथ मिलकर अंतरराष्ट्रीय फर्जी लॉटरी का संचालन करने वाले 6 सदस्यीय गिरोह को इंदौर STF ने पकड़ा है। इन्हें कोर्ट में पेश किया गया जहां से एक को पुलिस रिमांड पर सुपुर्द कर शेष 5 को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया।

इस गिरोह को एसटीएफ एसपी जितेंद्र सिंह व उनकी टीम द्वारा गिरफ्तार किया गया। आज इन आरोपियों को न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी इंदौर मृणाल मोहित की कोर्ट में पेश किया।

इन आरोपियों में मनीष पिता कमल भालसे, भारगेंद्र सिंह उर्फ लाला पिता सालिक राम सिंह, करण पिता शैलेंद्र सिंह, बृजेंद्र कुमार सिंह उर्फ बादल पिता इंद्र बहादुर सिंह, सुजीत सिंह पिता सुखलाल एवं पुष्पेंद्र सिंह उर्फ छोटू पिता अभिमान सिंह है शामिल हैं।

अभियोजन की ओर से सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी अमित गोयल द्वारा तर्क रखे गए। न्यायालय ने आरोपी आरोपी पुष्पेंद्र उर्फ छोटू से मामले के संबंध में और पूछताछ करने एवं अन्य आरोपी का पता लगाने के लिए उसे 18 दिसम्बर तक पुलिस अभिरक्षा ( रिमांड) में सौंपा जबकि अन्य 5 आरोपियों को 28 दिसम्बर तक न्यायिक अभिरक्षा जेल भेज दिया।

ये है मामला

एसटीएफ को सूत्रों के माध्यम से सूचना प्राप्त हुई थी कि सतना निवासी छोटू सिंह अपने साथियों के साथ इंदौर में रहकर अंतरराष्ट्रीय फर्जी लॉटरी का संचालन कर रहा है और देश के विभिन्न खातों से भारी मात्रा में पैसों का लेनदेन किया जा रहा है।

जांच पर पाया गया कि संदेही पुष्पेंद्र सिंह उर्फ छोटू के द्वारा अपने साथियों मनीष भालसे, करण सिंह, व पुष्पेंद्र सिंह उर्फ पिंटू के माध्यम से विभिन्न बैंक खाते प्राप्त कर अपने पाकिस्तानी एजेंटों के साथ मिलकर भारतीय नागरिकों को फर्जी लॉटरी, सिम कार्ड, कौन बनेगा करोड़पति आदि का प्रलोभन देकर इन बैंक खातों में ई वॉलेट, एटीएम कार्ड ,फोन पे जैसे एप्लीकेशनों का उपयोग कर रुपया जमा कराकर भारतीय नागरिकों के साथ संगठित रूप से षड्यंत्र पूर्वक व्यापक पैमाने पर धोखाधड़ी एवं ठगी की जा रही है।

इस प्रकार विभिन्न पाकिस्तानी एजेन्टो द्वारा भारत में अलग-अलग प्रकार के संगठित गिरोहों को विभिन्न व्यक्तियों के बैंक खाते उपलब्ध कराए जाते हैं इन बैंक खातों में ठगी की राशि प्राप्त की जा रही है और दिए गए बैंक खातों से पाकिस्तानी एजेंटों द्वारा उपलब्ध कराए गए बैंक खातों में राशि पुनः ट्रांसफर कर प्राप्त की जा रही है।

इसके बाद इस गिरोह को पकड़ा गया अन्य की तलाश जारी है। गिरोह को पकड़ने में एसटीएफ टीम के डीएसपी डीके सिंह, नितिन सिंह, एएसआई अमित दीक्षित, ओम प्रकाश तिवारी, विजय सिंह, टीसी केतले, आरक्षक आशीष मिश्रा, विवेक द्विवेदी, शुभम कटारे, हेमंत, भूपेन्द्र गुप्ता एवं साइबर सेल के उप निरीक्षक आमोद सिंह राठौर, रीना चौहान एवं पूजा मुवेल, प्रधान आरक्षक मनोज राठौड़, आरक्षक विवेक मिश्रा की भूमिका रही है।

Spread the love

इंदौर