Aug 25 2019 /
5:46 AM

इंदौर में पिता व भाई ने ही गला दबाकर युवक की हत्या कर दी और अस्पताल में बताया बीमार था

पुलिस ने खोला 24 घंटे में खोला अंधेकत्ल का राज, दोनों आरोपी गिरफ्तार

इन्दौर। इंदौर में पिता व भाई ने ही गला दबाकर युवक की हत्या कर दी थी और अस्पताल में उसे बीमार बताया था। पुलिस ने 24 घंटे में अंधेकत्ल का राज खोलकर दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

थाना बाणगंगा पर 15.अप्रैल को अरविन्दो हॉस्पिटल से सूचना मिली कि जितेन्द्र पिता रामकरण नामक युवक अपने भाई धर्मेन्द्र पिता रामकरण चौहान उम्र 26 साल नि. 175 नंदबाग कालोनी बाणगंगा इंदौर को दिन में 1.15 बजे मृत अवस्था में लेकर आया। मर्ग जांच के दौरान मृतक धर्मेन्द्र का पोस्टमार्टम कराया गया, जिसमे डाक्टर द्वारा मृतक की मृत्यु गला दबाने से होना बताया।

मृतक के घर के आसपास के लोगो से जानकारी निकाली गई और उसकी पत्नी तनु चौहान तथा अन्य साक्षियों के कथन लिये गये जिसमे हत्याकांड का खुलासा हुआ। मृतक की पत्नी तनु चौहान ने अपने कथन में बताया कि 14 अप्रैल को रात्रि करीब 10-11 बजे उसके पति धर्मेंद्र ने अपने पिता रामकरण से दारु पीने के लिये पैसे मांगे थे।

इसी बात को लेकर धर्मेन्द्र से पिता रामकरण व भाई जितेन्द्र ने मारपीट की तथा मृतक के पिता रामकरण के कहने पर जितेन्द्र ने भाई धर्मेन्द्र का गला दबा दिया था जिससे वह बेहोश हो गया था। इलाज के लिये अरविंदो अस्पताल ले गए थे जहां उसे मृत घोषित किया गया। इस पर पुलिस ने दोनों आरोपी पिता पुत्र को गिरफ्तार कर लिया।

अंधेकत्ल की गुत्थी सुलझाने में एसएसपी रुचिवर्द्धन मिश्र, पुलिस अधीक्षक (पूर्व) मो युसुफ कुरैशी, अति. पुलिस अधीक्षक डॉ. प्रशांत चौबे व नगर पुलिस अधीक्षक परदेशीपुरा हरीश मोटवानी के निर्देशन मे थाना प्रभारी बाणगंगा निरीक्षक इन्द्रमिण पटेल, उनि प्रवीण आर्य, सउनि. दिनेश त्रिपाठी , सउनि. एन. कुजूर ,प्र.आर.चंद्रशेखर पटेल, आर. मालाराम सिकरवार, सुनील सेंगर का योगदान रहा ।

Spread the love

इंदौर