Oct 21 2019 /
12:21 AM

इंदौर में आयोजित ‘मैग्निफिसेंट एमपी’ में 18 को होगा उद्योगपतियों के जमावड़ा, एयरपोर्ट से लेकर आयोजन स्थल तक के मार्ग को सजाया-संवारा जायेगा

इंदौर। मप्र में औद्योगिक निवेश बढ़ाने के लिए राज्य शासन द्वारा ‘मैग्निफिसेंट एमपी’ आयोजित किया जा रहा है जिसमे बड़ी संख्या में ख्यात उद्योगपति शरीक होंगे। इस प्रतिष्ठापूर्ण आयोजन व्यापक तैयारियां जारी हैं। शहर में आने वाले उद्योगपतियों और औद्योगिक संस्थानों के अधिकारियों की गरिमा के अनुरूप सभी तैयारियां निर्धारित समयसीमा में पूरी की जायेगी।

शहर में इस आयोजन के लिये उत्सवी माहौल रहेगा। शहर के मॉल, चौराहों और अन्य प्रमुख स्थानों को सजाया-संवारा जायेगा। मैग्निफिसेंट एमपी कार्यक्रम के लिये की जा रही तैयारियों की आज यहां मुख्य सचिव सुधिरंजन मोहन्ती ने समीक्षा की।

समीक्षा के दौरान प्रमुख सचिव उद्योग डॉ. राजेश राजौरा, प्रमुख सचिव जनसम्पर्क संजय शुक्ला, संभागायुक्त आकाश त्रिपाठी, एडीजी वरूण कपूर, ट्रायफेक के एमडी विवेक पोरवाल, मध्यप्रदेश पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के एमडी विकास नरवाल, कलेक्टर लोकेश कुमार जाटव, डीआईजी रूचिवर्धन मिश्र सहित अन्य संबंधित विभागों के अधिकारी मौजूद थे। बैठक में श्री मोहन्ती ने इस आयोजन की तैयारियों की विभागवार विस्तार से समीक्षा की। उन्होंने निर्देश दिये कि इस आयोजन से जुड़ी सभी तैयारियां निर्धारित समय पर पूरी हों।

व्यवस्थाओं में किसी भी तरह की कमी नहीं रखी जाये। आने वाले अतिथियों को किसी भी तरह की परेशानी का सामना नहीं करना पड़े। इस अवसर पर बताया गया कि मैग्निफिसेंट एमपी कार्यक्रम के तहत 17 अक्टूबर को प्रदर्शनी का शुभारंभ होगा।

मैग्निफिसेंट एमपी का मुख्य कार्यक्रम 18 अक्टूबर को होगा। सुबह उद्घाटन सत्र होगा। इसमें मुख्यमंत्री कमलनाथ मौजूद रहेंगे। इसके पश्चात 8 विशेष सत्र होंगे। यह सत्र दो भागों में दोपहर ढाई बजे से साढ़े तीन बजे तक तथा शाम 4 से 5 बजे तक आयोजित किये जायेंगे।

इसके पश्चात समापन का कार्यक्रम होगा। शाम को सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किया जायेगा। मुख्य सचिव मोहन्ती ने इस आयोजन में आने वाले अतिथियों के आवास, परिवहन, सुरक्षा आदि व्यवस्थाओं की समीक्षा की। बताया गया कि आने वाले अतिथियों के सहयोग के लिये एक-एक लाइजिनिंग अधिकारी भी साथ रहेंगे।

अतिथियों को इंदौर तथा आसपास और अन्य क्षेत्रों के पर्यटन क्षेत्रों का भ्रमण भी कराया जायेगा। एयरपोर्ट पर हेल्पडेस्क भी रहेंगी। एयरपोर्ट से लेकर आयोजन स्थल ब्रिलियंट कन्वेंशन सेंटर तक के मार्ग को सजाया-संवारा जायेगा। शहर के प्रमुख स्थानों मॉल, चौराहों आदि इमारतों पर विशेष साज-सज्जा रहेगी।

उन्होंने अधिकारियों से कहा कि सभी अधिकारी इस महत्वपूर्ण आयोजन के लिये पूर्ण समन्वय के साथ टीम भावना से कार्य करें। आयोजन के दौरान शहर में सम्पत्ति विरूपण अधिनियम का पालन भी करवायें अधिकारी-कर्मचारियों के बगैर अनुमति के अवकाश पर जाने पर प्रतिबंध लगाया जाये। उन्होंने कहा कि यह आयोजन वास्तविक निवेश पर केन्द्रित होगा।

निवेश के संबंध में गंभीर रूप से चर्चा कर उसे अमली रूप देने के प्रयास किये जायेंगे। प्रदेश में औद्योगिक निवेश की अपार संभावनाएं हैं। इन्हीं संभावनाओं के मद्देनजर इस आयोजन में महत्वपूर्ण चर्चा होगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश में उद्योग आधारित विभागवार नीतियों पर काम किया जा रहा है। इसके परिणाम शीघ्र ही दिखायी देंगें।

बैठक के दौरान संभागायुक्त आकाश त्रिपाठी ने आयोजन के लिये की जा रही तैयारियों की जानकारी दी। उन्होंने इस दौरान अन्य कार्यक्रम के भूमिपूजन के संबंध में भी बताया। त्रिपाठी ने बताया कि शहर में आने वाले अतिथियों के लिये व्यापक व्यवस्थाएं की जा रही हैं। उनकी सुविधा के लिये जगह-जगह मार्ग संकेतक रहेंगे।

एयरपोर्ट तथा अतिथियों के ठहरने के प्रत्येक स्थान पर समुचित स्वागत, सहायता हेतु आवश्यक व्यवस्था की जायेगी तथा योग्य और जानकार अधिकारियों को तैनात किया जायेगा। आयोजन के दौरान उज्जैन रोड से एमआर-10 पर ट्रकों का आवागमन प्रतिबंधित किया जायेगा। आयोजन स्थल पर विशिष्ट अतिथियों के वाहनों की पार्किंग हेतु उचित व्यवस्था रहेगी।

पार्किंग स्थल पर पब्लिक एड्रेस सिस्टम भी लगाया जायेगा। आयोजन स्थल पर फायर ब्रिगेड और आकस्मिक चिकित्सा की पर्याप्त व्यवस्था रहेगी। मुख्य सचिव मोहन्ती सहित अन्य अधिकारियों ने आयोजन स्थल का भ्रमण कर तैयारियों का जायजा लिया और अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये

Spread the love

इंदौर