Feb 19 2019 /
5:53 AM

इंदौर के बेटमा में पैसे के लालच में की थी व्यापारी बाप बेटे की जघन्य हत्या, अंधे कत्ल में तीन गिरफ्तार

इंदौर। इंदौर के बेटमा में लगभग 7 माह पूर्व किराना व्यापारी विध्यांचल गुप्ता और उनके लड़के संदीप के अंधे कत्ल व लूटपाट का पर्दाफाश करते हुए पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। पुलिस ने इस दोहरे हत्याकांड के आरोप में तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। घटना में प्रयुक्त हथियार व रैकी में प्रयुक्त मोटर साईकिल भी जब्त की है।

पकड़े गए आरोपियों में धर्मेन्द्र साहू पिता हरीराम जाति तेली उम्र 28 साल निवासी झोपड पट्टी बडी बगदून व उसके दो साथी रवि पिता ओंकारसिंह बघेल (19) और लखन पिता भूरेसिंह बघेल (19) है। इनकी गिरफ्तारी पर 50 हजार का ईनाम घोषित किया गया था। गत15 जुलाई 2018 को तीनों आरोपियों ने लूट के इरादे से बेटमा के व्यापारी विध्यांचल गुप्ता,

उनके पुत्र संदीप और सुदामा गुप्ता पर उनके घर में धारदार हथियारों से हमला किया था। हमले में विध्यांचल और संदीप की मौत हो गई थी जबकि सुदामा बुरी तरह से घायल हो गए थे। पूछताछ में आरोपियों ने पैसो के लालच में यह वारदात करना कबूला।

रेकी कर की वारदात

इन्होंने कबूल किया कि हम तीनो ने मिलकर धर्मेन्द्र साहू की मोटर साईकिल MP 09 QK 5196 से किराना व्यापारी विंध्यांचल गुप्ता की दुकान से लाईफसिटी कालोनी बेटमा तक आने जाने के समय की रैकी 3-4 बार अलग अलग तारीख को की। वारदात को अंजाम देने के बाद कालोनी के पीछे खेत से ही आने एवं जाने की प्लानिंग की गई थी ।

घटना वाले गईं ये शराब पीकर धर्मेन्द्र के घर से पैदल खेतों में होते हुये लाइफसिटी कालोनी के पीछे मंदिर की दीवार के पास बने छेद से छुपकर विध्यांचल के घर आने का इंतजार किया एवं जैसे ही उन्हे गाडी आते दिखी, दिवाल में बने छेद से अन्दर जाकर लूट करने की नियत से हथियारों से लैस होकर विध्यांचल व उनके लडके संदीप व सुदामा पर धारदार हथियारों से हमला कर दिया।

विंध्यांचल द्वारा आऱोपी रवि को भागते वक्त पकड लिया गया था जिस पर धर्मेन्द्र जिसके पास तलवार थी व जो रेनकोट पहने था, लखन जिसके पास फालिया था तथा रवि जिसके पास चाकू था, इन्होने विध्यांचल व उसके लडके संदीप के साथ मारपीट की जिसमें झूमाझटकी में लखन का फालिया मौके पर गिर गया था ।

उक्त तीनो आरोपी बेग लूटकर खेत के रास्ते वापस भाग गये थे। इन्होंने ही इसके पहले 24 जून 18 को विध्यांचल गुप्ता की बोलेरो गाडी से उनकी किराने की दुकान के सामने से पैसो से भरा बैग जिसमें 37000 रूपये थे, चुराने की वारदात को भी अंजाम देना कबूल किया है।

उक्त अंधे कत्ल को सुलझाने में ADG वरुण कपूर, DIG हरिनारायण चारी मिश्रा, एसपी सूरज वर्मा, ASP धर्मराज मीणा के निर्देशन में एसडीओपी रामकुमार राय, थाना प्रभारी बेटमा योगेन्द्र सिंह सिसौदिया, उनि वी.एस. सिकरवार, उनि वरसिंह खडिया उनि मनीष माहौर सउनि यतिन्द्र मिश्रा ,सउनि अजीत सिंह पवांर प्रआर. मुकेश नागर प्रआऱ. मोहन सिंह, प्रआर. जगदीश, प्रआर. श्रीकृष्ण जाट आर. योगेश, आर. राजेश पटेल आर. ज्ञानेन्द्र सिंह आर. कमलेश बौद्ध आर.शिवा, आर. संदीप आर. राजेश आऱ. दसरथ आर. देवकरण आर. तुलसीराम म.आर. अंकिता सैनिक मधू का योगदान रहा।

Spread the love

इंदौर