Aug 25 2019 /
5:46 AM

इंदौर में मंत्री के भतीजे से विवाद मामले में ट्रैफिक महिला सूबेदार बोली, एक हजार रिश्वत की बात सिद्ध कर दें, मैं इस्तीफा दे दूंगी, देखिये वीडियो

इंदौर। एक दिन पूर्व चालान बनाने की बात पर मध्य प्रदेश के कैबिनेट मंत्री के भतीजे से हुए विवाद के मामले में ट्रैफिक सूबेदार सोनू वाजपेयी ने कहा है कि उन पर जो 1000 रुपए रिश्वत लेने का आरोप लगाया जा रहे हैं, सरासर गलत है, यह बहुत कष्टदायक है।

उन्होंने कहा कि यदि रिश्वत का आरोप सिद्ध कर दे तो मैं इस्तीफा दे दूंगी। देखिए वीडियो सूबेदार ने क्या कहा- गौरतलब है कि गत रविवार को राजीव गांधी चौराहे पर ट्रैफिक पुलिस में पदस्थ महिला सूबेदार सोनू वाजपेयी चेकिंग अभियान में लगी थी।

इसी दौरान मंत्री सज्जन सिंह वर्मा के भतीजे कांग्रेस नेता अभय वर्मा से स्कॉर्पियो चलाते समय मोबाइल पर बात करने का चालान बनाने की बात कहासुनी हुई थी।

इसके बाद वहां अन्य कई कांग्रेसी पहुंच गए और महिला सूबेदार से बहस हुई। इस दौरान बताते है उन्हें बालाघाट व झाबुआ ट्रांसफर कराए जाने की धमकी भी दी गई थी।

इधर ट्रैफिक सूबेदार अरुण सिंह पुनः राजवाड़े पर पदस्थ

गौरतलब है कि ऐसा ही वाकया गत 4 अप्रैल को राजवाड़े पर हुआ था। चालान बनाने की बात पर सूबेदार (यातायात) अरुण सिंह का कांग्रेस नेता एक कांग्रेस नेता से विवाद हुआ था।

इस सूबेदार अरुण सिंह की फील्ड से छुट्टी कर उसकी मनोस्थिति ठीक नहीं बताकर वरिष्ठ अधिकारियों ने उसे एक सप्ताह का एंगर मैनेजमेंट कोर्स करने भेज दिया था। बताते है वहां से लौटने के बाद सूबेदार अरूण सिंह को पुनः राजवाड़ा पर ही पदस्थ कर दिया गया है।

Spread the love

इंदौर