इंदौर में बॉक्सिंग टीम चयन में पक्षपात, जांच के आदेश

 इंदौर। स्टेट लेवल के बॉक्सिंग खिलाड़ियों के चयन में पक्षपात के आरोप लगे है। संभागायुक्त ने इसकी जांच के आदेश दिए हैं। मामला इंदौर जिला शिक्षा अधिकारी के तहत चयन समिति का है।

आरोप है कि बॉक्सिंग के लिए चयन करने वाली समिति ने 5 बार के गोल्ड मेडलिस्ट खिलाड़ियों को न सिर्फ स्पर्धा में चयन के लिए अयोग्य घोषित कर दिया बल्कि उनके साथ अभद्रता करने में भी चयन समिति के सदस्य पीछे नहीं रहे।

इंदौर का नाम इंडिया में रोशन करने वाले गोल्ड मेडलिस्ट बॉक्सर युवराज ठाकुर और अर्पिता शुक्ला ने अपने परिजनों के साथ सोमवार को संभागायुक्त राघवेंद्र सिंह से मिलकर अपनी व्यथा सुनाई|

चयन समिति के सदस्यों द्वारा प्रताड़ित किए जाने के आरोप लगाते हुए कहा गया कि अपने चहेते खिलाड़ियों को स्पर्धा में प्रवेश देने के लिए चयन समिति की सदस्य माधुरी माधुरी बेंजामिन और महावीर आर्य ने उनके फार्म स्वीकृत नहीं किए और अभद्रता कर उन्हें बाहर कर दिया।

यह भी आरोप लगाया कि प्रतिभावान उनके बच्चों को जानबूझकर चयन समिति द्वारा हमेशा के लिए खेल से बाहर किया जा रहा है।
संभागायुक्त राघवेंद्र सिंह ने इस मामले की जांच के आदेश दिए हैं और कहा कि खिलाड़ियों के साथ किसी भी तरह का भेदभाव नहीं होने दिया जाएगा

Spread the love

इंदौर