इंदौर वासियो ने कहा, सफाई के लिए तैयार हैं हम…

इंदौर। इंदौर में बुधवार को देश में दूसरी बार नंबर वन आने वाले शहर ने एक नई मिसाल कायम की और यह संदेश दिया कि वे इस शहर के नागरिक सफाई के लिए हर सम्भव अपना योगदान देने का तैयार है, चाहे इसके लिए उन्हें खुद हाथ में झाड़ू क्यो ना उठाना पड़े।
दरअसल बुधवार को गोगा नवमी पर वाल्मीक समाज के लोगों की छुट्टी थी। इंदौर नगर निगम में तकरीबन साढ़े छह हजार कर्मचारी है जो वाल्मीकि समाज के होकर शहर की सफाई व्यवस्था का जिम्मा सम्हालते हैं।

आज इनके अवकाश पर रहने के कारण शहर की सफाई व्यवस्था कैसे हो यह एक बड़ी चुनौती थी। लेकिन नगर निगम आयुक्त आशीष सिंह ने जब इस संबंध में कुछ संगठनों और संस्थाओं के कर्ताधर्ताओं से बात की तो इसका हल निकल गया और उन्होंने यह जिम्मेदारी स्वीकार की कि वे बुधवार को शहर की सफाई में अपना सक्रिय योगदान देंगे।

इसका असर भी देखने को मिला। बुधवार सुबह राजवाड़ा के आसपास के क्षेत्र में ICICI Bank सहित कई संस्थाओं के अधिकारी, कर्मचारी नगर निगम कमिश्नर व अन्य अधिकारी सभी सफाई व्यवस्था में जुट गए थे और इन लोगों ने खुद अपने हाथ में झाड़ू लेकर क्षेत्र मे सफाई व्यवस्था की।

इसी तरह शहर के अन्य कई वार्डों में भी स्वयंसेवी संस्थाओं के लोगों ने भी अपना योगदान दिया। घर घर से कचरा उठाने वाली गाड़ियों के साथ भी इस तरह के कई सदस्य चलें और घरों से कचरा एकत्रित किया।

यह निश्चित रूप से देश के तमाम शहरों के लिए बड़ी मिसाल कायम करने का काम है जिसमें यह संदेश गया है कि इस शहर के लोग सफाई पसंद है और इसीलिए देश मे नम्बर वन है।

Spread the love

इंदौर