Jun 21 2019 /
4:43 AM

इंदौर से पहली बार गणतंत्र दिवस के उपलक्ष्य में निकलेगी सम्मेद शिखर जी के लिए यात्रा

  • 321 सदस्यों का दल करेगा पारस पर्वत की वंदना, इंदौर के यात्री करेंगे शिखर जी में देश का ध्वजारोहण

इंदौर। दिगम्बर जैन समाज समाजिक संसद द्वारा आगामी 22 जनवरी से 27 जनवरी तक गणतंत्र दिवस के उपलक्ष्य में 321 यात्रियों को सम्मेद शिखर जी की यात्रा करायी जाने वाली हैं।

समाजिक संसद युवा प्रकोष्ठ के अध्यक्ष राहुल सेठी, महामंत्री विरल काला, कार्याध्यक्ष गोरव पाटोदी ने बताया कि यात्रा की शुरुआत 22 जनवरी को होगी। इस दिन सभी यात्रियों को समाज के अध्यक्ष नरेंद्र वेद, महामंत्री विमल सोगानी सहित अन्य पदाधिकारियों द्वारा ट्रेन से रवाना किया जाएगा।

24 जनवरी को यात्री वहाँ पहुँचेंगे इसके बाद सभी लोग एक साथ पर्वत राज के तलहटी में स्थित मंदिरो के दर्शन करेंगे।युवा प्रकोष्ठ के वरिष्ठ उपाध्यक्ष आशीष जैन, नीरज जैन और सूयेश जैन ने बताया कि दूसरे दिन 25 जनवरी को सभी यात्री पर्वत की वंदना करेंगे।

जैन समाज में ऐसी मान्यता हैं की एक बार भाव सहित जो पहाड़ की वंदना करते है,उन्हें नरक गति से छुटकारा मिल जाता है। झारखंड राज्य के मधुबन में स्थित इस पर्वत से 20 तीर्थंकर भगवान मोक्ष गए हैं।इस पर्वत की वंदना करने का काफ़ी महत्व है।

26 जनवरी गणतंत्र दिवस के दिन सभी लोग यहाँ स्थित त्रीयोग आश्रम मंदिर में सम्मेद शिखर जी विधान करेंगे। ये विधान देश भक्ति के गीतों के धुन पर होगा।

विधान के पूर्व मंदिर में विराजित आचार्य श्री 108 सम्भव सागर जी महाराज के सानिध्य में झंडा वंदन किया जाएगा। इसके बाद रात्रि में सभी यात्री फिर ट्रेन से इंदोर के लिए रवाना होंगे।

13 जनवरी को मीटिंग बुलायी

यात्रा के पहले समाज अध्यक्ष नरेंद्र वेद ने 13 जनवरी को नवग्रह जिनालय ग्रेटर बाबा परिसर में सभी यात्रियों की मीटिंग बुलायी है। इस मीटिंग में संयोजकों का सम्मान होगा, साथ ही यात्रा पर जाने वाले श्र्धालुओ को उपहार दिए जायेंगे। दिगम्बर जैन समाज समाजिक संसद के इतिहास में पहली बार शिखर जी की यात्रा करायी जा रही है। इससे समाजजन में काफ़ी उत्साह हैं।

Spread the love

इंदौर