मन्दसौर रेप केस में शासन सिरपुरकर को सौंप सकता है जिम्मेदारी

इंदौर। चर्चित मन्दसौर दुष्कर्म कांड में आरोपियों को कड़ी सजा दिलाने के लिए शासन कटिबद्ध है, इसी के चलते इस केस की पैरवी की हेतु सीनियर अधिवक्ता अविनाश सिरपुरकर को जिम्मेदारी सौंपी जा सकती है।

भरोसेमंद सूत्रों ने बताया कि उच्चस्तरीय चर्चा के बाद सिरपुरकर के नाम पर सहमति बनी। इसके बाद एक अफसर द्वारा इस बाबद सिरपुरकर से सम्पर्क भी किया गया।

गौरतलब कि इसके पूर्व शासन मन्दसौर के ही गत वर्ष के गोली कांड में सिरपुरकर को अपनी ओर से पैरवी हेतु विशेष सेवा ले चुका है। ऐसे ही नर्मदा बचाओ आंदोलन की सुश्री मेधा पाटकर की बन्दी प्रत्यक्षीकरण याचिका में भी वे ही शासन की तरफ से पैरवी हेतु नियुक्त किये गए थे।

इसी के चलते उक्त चर्चित मामले मे भी उन्हें ही सरकार की ओर से खड़े किए जाने की प्रबल संभावना है। 2 दिन पहले जबलपुर में चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा की मौजूदगी में हुए एक कार्यक्रम में भी खुद CM शिवराज ने इस दुष्कर्म कांड की भर्त्सना करते हुए दोषियों को कड़ी से कड़ी सज़ा दिए जाने की वकालत अपने उदबोधन में कही थी।

Spread the love

इंदौर