क्या नरेन्द्र मोदी जैसे सर्वाधिक लोकप्रिय के लिए भी भीड़ जुटाने की जरूरत

इंदौर। क्या नरेन्द्र मोदी जैसे सर्वाधिक लोकप्रिय माने जाने वाले प्रधानमंत्री के लिए भी भीड़ जुटाने की जरूरत पड़ सकती है…? यह सवाल इसलिये खड़ा हुआ है क्योंकि 23 जून शनिवार के मोदी के इंदौर डोरे को लेकर प्रशासनिक मशीनरी द्वारा ऐसी ही जुगत की जा रही है। इसका उदाहरण है जिला शिक्षा अधिकारी का ये पत्र जो सरकारी स्कूलो के नोडल अधिकारी को लिखा गया है। इसमें स्पष्ट निर्देशित किया गया है कि हर सरकारी स्कूल से 50-50 छात्र छात्राए 9 से 12 वी क्लास के ओर दो-दो शिक्षको की उपस्थिति नेहरू स्टेडियम में प्रधानमंत्री मोदी के आयोजन को सफल बनाने के लिये सुनिश्चित की जाए। पत्र की कापी इंदौर कलेक्टर व अन्य को भी भेजी गई है।। कुलपति का वीडियो भी वायरल। मोदी की सभा मे भीड़ जुटाने के लिये देवी अहिल्या विवि के कुलपति डर नरेन्द्र धाकड़ का भी एक वीडियो वायरल हुआ है। इसमें वे बैठक लेकर हर हालत में कालेजों से छात्र छात्राओं को मोदी की सभा मे लाने के निर्देश अपने अधीनस्थों को देते दिखाई पड़ रहे है। विवि ने तो एक कदम आगे बढाते हुए शनिवार को आयोजित कई परीक्षाएं आगे बढ़ा दी है।

मोदी की सभा सफल बनाने के लिए है सरकारी स्कूल से लाएं 50-50 स्टूडेंट्स जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा बकायदा जारी किए गया लिखित निर्देश

Spread the love

6

इंदौर