भैंस के लिए मांगी फिरौती

इंदौर। आदमी की रिहा करने के लिये तो फिरौती मांगने मि बात सुनी थी लेकिन पुलिस ने एक ऐसा मामला पकड़ा है जिसमे भेस को छोड़ने के लिए फिरौती मांगी गई। मामला इंदौर के गांधीनगर थाना क्षेत्र स्थित गाड़राखेड़ी का है। कालू चौधरी खेती के साथ मजदूरी करता है।

उसके पास दुधारू भैंसें हैं। दूध निकालने के बाद वह पालाखेड़ी (कांकड़) पर बने तलेबे में भैंसों को बांध देता था।

पिछले सोमवार को चोर तबेले में घुसे और दो भैंसें खोलकर ले गए। कालू ने छोटा आसपास के गांवों सहित कईं स्थानों पर भैंसों को ढूंढा। सोश्यल मीडिया पर फोटो भी शेयर किए और पता बताने वाले को इनाम देने की घोषणा की। जानवरों के लिए लगने वाले हाट बाजार में भी फोटो लेकर तलाश करने गया।

इसके बाद थाने पहुंचा और भैंस चोरी की शिकायत दर्ज करवा दी। जैसे ही कालू घर पहुंचा उसके मोबाइल पर एक बदमाश का कॉल आया। उसने कहा कि भैंसें वापस चाहता है तो 25 हजार रुपए लेकर उसके बताए ठिकाने पर आ जाए। आरोपी ने सबसे पहले उसे सुपर कॉरिडोर पर बुलाया। जैसे ही वह रिश्तेदार व ग्रामीणों को लेकर पहुंचा तो बदमाशों ने मोबाइल बंद कर लिया।

कुछ देर बाद कहा कि टोलनाका (बारोली) के पास आ जाओ। आरोपी वहां भी नहीं मिला। काफी देर छकाने के बाद उसने कहा कि सुपर कॉरिडर आ जाओ। मैं चौराहा पर मिलूंगा। कालू जैसे ही वहां पहुंचा रोशन यादव (बड़ा गणपति) मिला। उसने 25 हजार रुपए मांगे। कालू ने कहा कि इस हाथ भैंस दे दो और उस हाथ रुपए ले लो। रोशन ने झाड़ियों की ओर इशारा किया और भैंसें बताई।

कालू ने इशारा कर रिश्तेदारों को बुला लिया। साथियों ने रोशन की पिटाई की और पकड़कर ले गए। एसआई आरएस शक्तावत के मुताबिक रोशन ने पूछताछ में साथी सन्नी व विक्की का नाम भी कबूला है। दोनों भैंसों को बरामद कर लिया। उनसे अन्य घटनाओं के बारे में पूछताछ की जा रही है।

Spread the love

इंदौर