शूटर आनन्द शांडिल्य पर 14 लाख की बैंक डकैती सिद्ध नही कर पाई इंदौर पुलिस

इंदौर। यूपी के शार्प शूटर कुख्यात बदमाश आनन्द शांडिल6के विरुद्ध इंदौर पुलिस लगभग 15 साल पहले की 14 लाख की बैंक डकैती सिद्ध नहीं कर पाई। शुक्रवार को ADJ विवेक सक्सेना की कोर्ट ने उसे दोषमुक्त कर दिया।

गौरतलब बात यह है कि इसी डकैती के 2 आरोपी प्रवीण ओर हरीश को 2005 में 10-10 साल की कठोर कैद की सज़ा हो चुकी हैं और एक आरोपी शशिकांत पुलिस एनकाउंटर में मारा जा चुका है।

आनन्द की ओर से एडवोकेट विकास यादव ने पैरवी की। वारदात 6 सितंबर 2003 जी दिन की एक बजे की है। इंदौर के सुखलिया में बापट चौराहे पर स्थित देना बैंक में रिवालरों कई नॉक पर 13 लाख 95 हज़ार 720 रुपये लूट लिए गए थे।

इस मामले मे हीरानगर पुलिस ने मैनेजर अशोक दुबे की रिपोर्ट पर आनन्द, प्रवीण, हरीश, शशिकांत और 2 अन्य पर डकैती का मामला दर्ज किया था। शेष 2 अन्य जो आज तक पुलिस नही ढूंढ़ पाई।

पुलिस के सभी गवाह पक्षद्रोही हो गए, किसी ने भी कोर्ट में आनन्द को नही पहचाना। गौरतलब है कि इसके पूर्व आनन्द पर इंदौर में ही भंवरकुआं क्षेत्र में पेट्रोल पंप पर लूट भी सिद्ध नही हो पाई थी।

फर्राटेदार अंग्रेजी बोलता है आनन्द

मूल रूप से हरदा टिमरनी का रहनेवाला आनन्द उच्च शिक्षित है और फर्राटेदार अंग्रेजी बोलता है। उत्तर प्रदेश के कई संगीन अपराधों में वह आरोपी रहा। यूपी में 2010 पूर्व मंत्री नन्दगोपाल गुप्ता नन्दी की विस्फोट से हत्या में भी वह आरोपी रहा है।

Spread the love

इंदौर