Sep 23 2019 /
10:23 AM

इन्दौर में एस.टी.एफ. द्वारा एडवाईजरी कम्पनी मैक्स इण्डिया रिसर्च का संचालक हिरासत में, 84 लाख के ऑनलाइन ट्रांजेक्शन की बात सामने आई

इंदौर। इन्दौर में एस.टी.एफ. द्वारा एडवाईजरी कम्पनी मैक्स इण्डिया रिसर्च के संचालक को हिरासत में लिया गया है। इस कम्पनी में 84 लाख के बिना रजिस्ट्रेशन ऑनलाइन ट्रांजेक्शन की बात सामने आई है।

पकड़े गए आरोपी का नाम अभिषेक गुप्ता पिता राजेन्द्र प्रसाद गुप्ता निवासी रतनलोक कॉलोनी विजय नगर इन्दौर है। एसपी एसटीएफ इंदौर पद्मविलोचन शुक्ला ने बताया कि सेबी इन्दौर के उप महाप्रबंधक निर्मल मेहरोत्रा द्वारा आवेदिका वन्दना एम.कोटगी निवासी हुबली कनार्टक के साथ मेक्स इण्डिया रिसर्च कम्पनी द्वारा धोखाधडी किये जाने का आवेदन पत्र भेजा गया था।

इसकी जांच के दौरान पाया गया कि मैक्स इण्डिया रिसर्च कम्पनी द्वारा एडवाईजरी कम्पनी संचालित करने के लिए अनिवार्य एन.आय.एस.एम. का सर्टिफिकेट ऑफ रजिस्ट्रेशन प्राप्त नहीं किया गया है।

कम्पनी के प्रतिनिधि द्वारा आवेदिका को फोन के माध्यम से सेबी से रजिस्टर्ड कम्पनी होने का विश्वास दिलाते हुए निवेश की गई राशि को ऑप्शन मार्केट में निवेश कर लाभ देने का प्रलोभन देते हुए उसके एच.डी.एफ.सी. बैंक के खाते से कम्पनी के आय.सी.आय.सी.आय. बैंक के खाते में राशि को ट्रांसफर कराया गया और बाद में उसके फोन कॉल्स को रिजेक्ट लिस्ट में डाल कर धोखाधडी की गई। इस आधार पर मैक्स इण्डिया कम्पनी के प्रोपायटर अभिषेक गुप्ता के विरूद्व थाना एस.टी.एफ. में अपराध पंजीबद्व कर विवेचना में लिया गया।

एसपी शुक्ला ने बताया कि मैक्स इण्डिया कम्पनी के प्रोपायटर अभिषेक गुप्ता द्वारा दिनांक 21-7-2017 से अप्रेल 2018 तक कम्पनी का संचालन पी.यू.-4 के स्काय लाईट बिल्डिंग इंदौर में किया जहां ऑनलाईन पेमेन्ट गेटवे पेयू मनी में इस अवधि में रूपयें 84 लाख का ट्रांजेक्शन होना पाया गया है।

साथ ही कम्पनी के महाराष्ट्र बैंक आय.सी.आय.सी.आय. और भारतीय स्टेट बैंक के खातो में भी राशि का ट्रांजेक्शन हुआ है एवं माह अप्रेल 2018 में कम्पनी को बंद कर दिया गया।

एस.टी.एफ. टीम के सउनि अमित दीक्षित को सूचना प्राप्त हुई कि मैक्स इंण्डिया रिसर्च कम्पनी का प्रोपायटर वर्तमान में किसी एडवाईजरी कम्पनी में नौकरी कर रहा है। इस पर टीम द्वारा अभिषेक गुप्ता को हिरासत में लिया जाकर पूंछताछ की जा रही है।

एसपी शुक्ला ने बताया कि सेबी इन्दौर से एस.टी.एफ. मुख्यालय भोपाल को लगभग 100 से अधिक पंजीकृत/अपंजीकृत कम्पनियों की शिकायत को भेजा गया है जिन पर शीघ्र ही एस.टी.एफ. इन्दौर द्वारा कार्यवाही की जावेगी।

इस कार्रवाई में एस.टी.एफ. इन्दौर के निरीक्षक एम.ए. सैयद सउनि अमित दीक्षित आर. भूपेन्द्र गुप्ता शुभम कटारे और सुभाष कोथे की भूमिका रही।

Spread the love

इंदौर