Sep 24 2019 /
3:05 PM

ISI मानक देने के नाम पर रिश्वत लेते भोपाल के वैज्ञानिक अफसर को इंदौर में लोकायुक्त पुलिस ने रंगे हाथों पकड़ा

इंदौर। शनिवार को एक फैक्ट्री संचालक को ISI मानक देने के नाम पर रिश्वत लेते भोपाल के वैज्ञानिक अफसर को इंदौर में लोकायुक्त पुलिस ने रंगे हाथों गिरफ्तार किया। मिली जानकारी के अनुसार लोकायुक्त पुलिस इंदौर द्वारा भारतीय मानक ब्यूरो भोपाल स्थित आंचलिक कार्यालय में पदस्थ वैज्ञानिक B वर्ग अरुण कुमार शंखवार को फरियादी सुनील अजमेरा की शिकायत पर पकड़ा गया। एसपी लोकायुक्त इंदौर एसएस सराफ के अनुसार उनसे मेडिसिन लाइसेंस ( ISI मानक) देने के एवज में आरोपी वैज्ञानिक ने फरियादी से ₹50000 की रिश्वत राशि की मांग की गई थी।

प्रथम किश्त के रूप में ₹10000 की रिश्वत राशि लेते हुए आज आरोपी अरुण कुमार शंखवार को इंदौर में रंगे हाथों पकड़ा गया। वे इंदौर के बाणगंगा क्षेत्र में स्थित फैक्ट्री का निरीक्षण करने भोपाल से आये थे। इस दौरान उन्हें फैक्टरी में ही उक्त रिश्वत लेते पकड़ा और बाण गंगा थाने ले जाकर कार्यवाही कर गिरफ्तार किया गया। आरोपी के विरुद्ध भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम संशोधित 2018 की धारा 7 के अंतर्गत कार्यवाही की गई। उल्लेखनीय है कि भारतीय मानक ब्यूरो बाजार के विभिन्न उत्पादनों को आई एस आई मानक प्रदान करने वाली संस्था है जो कि भारत सरकार के उपभोक्ता मामलों ,खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्रालय नई दिल्ली के आधीन कार्य करती है।

जिस फर्म से रिश्वत मांगी गई थी उसका नाम Sun Age Pharma है।
ये सोडियम हाइपो क्लोराइड नाम का disinfectant(संक्रमण रोकने का केमिकल) कारखाने में बनाते हैं जिनकी व्यापक सप्लाई हॉस्पिटल्स में होती है।
शासन के उत्पाद प्रमाणन योजना अंतर्गत ISI मार्क अनिवार्य है जिसके लिए लाइसेंस लेना होता है।

Spread the love

इंदौर