फांसी लगाने वाली गैंगरेप पीड़िता युवती ने सुसाइड नोट में लिखा कि पत्रकार अजय की मौत की जिम्मेदार मैं थी

इंदौर। सोमवार को एरोड्रम थाना क्षेत्र में रहने वाली एक गैंगरेप पीड़िता युवती ने फांसी लगाकर संदिग्ध आत्महत्या कर ली। उसके द्वारा आत्महत्या के पूर्व छोड़े गए सुसाइड नोट मे यह उल्लेख है कि 2 दिन पूर्व ट्रेन से कटकर मृत पत्रकार अजय जायसवाल की मौत की जिम्मेदार वह थी।

दरअसल इस फांसी की घटना के बाद कई सवाल फिलहाल अनुत्तरित है जिनका हल पुलिस को निकालना होगा। मिली जानकारी के अनुसार एरोड्रम थाना क्षेत्र में स्थित अशोक नगर में रहने वाली एक युवती ने फांसी लगा ली।

मौके पर पहुंची पुलिस ने वहां से एक सुसाइड नोट जप्त किया। इस सुसाइड नोट में लिखा है कि 2 दिन पूर्व ट्रेन से कटकर मृत पत्रकार अजय जायसवाल की मौत की जिम्मेदार वह है।

इस फांसी की घटना के बाद अब पत्रकार अजय की मौत की गुत्थी और उलझ गई है। दरअसल युवती ने अभी कुछ दिन पूर्व गैंगरेप की रिपोर्ट एरोड्रम थाने पर की थी।

इस पर पुलिस ने राजा सांखला सहित चार लोगों के विरुद्ध केस दर्ज कराया था और चारों आरोपी जेल में है। इसी केस में एक कॉलोनाइजर का भी नाम आ रहा था और लगभग ढाई करोड रुपए के कथित लेन देन की बात भी आ रही थी।

इसी बीच हीरानगर थाना क्षेत्र में पत्रकार अजय जायसवाल की लाश ट्रेन से कटे हालत में मिली थी। अभी यह स्पष्ट नहीं है कि यह खुदकुशी थी या हत्या।

इंदौर प्रेस क्लब ने DIG से मिलकर इस मामले की जांच कराने लिए कहा था। इस पर उन्होंने इसकी जांच हेतु एसआईटी गठित कर दी थी। अभी अजय की पीएम रिपोर्ट भी आना है।

इसी बीच आज उक्त युवती ने फांसी लगाने के पहले जो सुसाइड नोट छोड़ा है उसमें अजय की मौत के लिए खुद को जिम्मेदार माना है।

इसके बाद अब कई सवालो के जवाब पुलिस को तलाशना है कि अजय की मौत स्वाभाविक थी यह हत्या? यदि हत्या थी तो इसके जिम्मेदार कौन कौन है और उसकी जान क्यों और किन लोगों द्वारा ली गयी? ऐसी क्या स्थिति बनी कि उक्त युवती को फांसी लगाकर जान देना पड़ी।

उसका अजय की मौत में क्या रोल था? क्या युवती का मामला भी ख़ुदकुशी का है या कुछ और? क्या इसके पीछे कुछ और ऐसे चेहरे हैं जिन्हें अभी सामने आना है? कुल मिलाकर मामला फिलहाल जांच के घेरे में है।

Spread the love

इंदौर