Aug 10 2022 / 3:56 AM

कमलेश तिवारी हत्याकांड: पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में चौकाने वाले खुलासे, पहले गला रेता फिर चाकू से किए 15 वार

नई दिल्ली। हिंदू समाज पार्टी के अध्यक्ष कमलेश तिवारी की बीते शुक्रवार को लखनऊ में उनके घर में घुसकर हत्या कर दी गई थी। हत्या मामले में पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट सामने आ गई है। रिपोर्ट में कई चौकाने वाले खुलासे हुए है। कमलेश पर 15 बार चाकू से वार किया गया। चाकू के सभी वार जबड़े से लेकर छाती के बीच 10 सेंटीमीटर के दायरे में किए गए थे। शव का पोस्टमॉर्टम किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के डॉक्टरों ने किया है। 18 अक्टूबर को कमलेश की हत्या की गई थी।

रिपोर्ट के मुताबिक, कमलेश के सीने के बाईं तरफ 7 वार किए गए। चेहरे के बाईं तरफ बुलेट इंजरी भी मिली। हत्यारों ने जो गोली मारी थी वह शरीर के अंदर ही फंसी रह गई थी। चाकू के हमले से सीने में तीन से चार सेंटीमीटर का सुराख हो गया था। साथ ही दो जगह चाकू से रेते जाने के निशान मिले हैं। इनमें से एक निशान गर्दन पर है। इस रिपोर्ट से साफ पता चलता है कि कमलेश तिवारी की बड़ी बेरहमी से हत्या की गई थी।

इस केस में गुजरात पुलिस ने जिन दो संदिग्धों को गिरफ्तार किया है, उनकी पहचान अशफाक हुसैन जाकिर हुसैन शेख (34) और मोइनुद्दीन खुर्शीद पठान (27) के रूप में की गई है। दोनों गुजरात-राजस्थान सीमा स्थित सूरत के शामलजी के रहने वाले हैं। एटीएस ने कहा कि दोनों उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर से नेपाल पहुंचे और वहां से राजस्थान होते हुए गुजरात में जा रहे थे। एटीएस अधिकारियों के मुताबिक शेख मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव के रूप में काम करता है, जबकि पठान फूड डिलिवरी ब्यॉय का काम करता है।

गुजरात एटीएस के डीआईजी हिमांशु शुक्ला के मुताबिक, दोनों आरोपियों ने अपना गुनाह कुबूल कर लिया है। दोनों भगवा कपड़े पहनकर वारदात करने पहुंचे थे। हत्या के बाद लखनऊ में ही होटल खालसा इन में इन लोगों ने कपड़े बदले थे और फिर ट्रेन से बरेली भाग गए थे। इस मामले में तीन साजिशकर्ताओं को गुजरात एटीएस पहले ही गिरफ्तार कर चुकी थी। यह तीनों यूपी पुलिस की रिमांड पर हैं।

Share with

INDORE