CM बोले दरिंदे को फांसी दिलवाएंगे

मन्दसौर की दुष्कर्म पीड़िता को देखने पहुचे कई नेता

इंदौर। दो दिन पहले मंदसौर में सात साल की मासूम बच्ची के साथ हुई ज्यादती मामले में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि यह घटना दरिंदगी की इन्तेहा है, इस मामले के आरोपियों को फांसी की सज़ा दिलवाने हेतु सरकार हर सम्भव प्रयास करेगी। इस घटना के बाद मंदसौर ही नही पूरे मालवा निमाड़ में लोगों का गुस्सा चरम पर है। बच्ची के न्याय के लिए शुक्रवार को दूसरे दिन भी मन्दसौर बंद है। मंदसौर के बार एसोसिएशन ने आरोपी की पैरवी नहीं करने का भी फैसला लिया है। एसोसिएशन ने कहा बच्ची के पक्ष में वकील नि:शुल्क पैरवी करेंगे। मुख्यमंत्री शिवराज चौहान ने कहा, ”इस तरह के दरिंदों को सभ्य समाज में रहने का हक नहीं है और ऐसे लोगों को फांसी से कम सजा नहीं होना चाहिए। मुख्यमंत्री ने पीड़ित बच्ची के बारे में कहा कि वह मध्यप्रदेश की बेटी है और वे स्वयं उसके स्वास्थ्य पर लगातार निगरानी रखे हुए हैं। सरकार कोशिश कर रही है कि वह पूरी तरह स्वस्थ हो जाए। इंदौर के अस्पताल में भर्ती बेटी के स्वास्थ्य की वो लगातार जानकारी ले रहे हैं। इधर घटना के विरोध में गुरुवार को मंदसौर सहित पिपलियामंडी, दलौदा बंद रहा। वहीं शुक्रवार को सीतामऊ, सुवासरा, संजीत व शामगढ़ बंद है। निजी स्कूल एसोसिएशन अध्यक्ष रूपेश पारिख ने कहा शनिवार को सभी स्कूल बंद रहेंगे और संचालकों द्वारा प्रशासन को ज्ञापन सौंपा जाएगा।।

एमवाय पहुंचे सांसद-विधायक

शुक्रवार को मंदसौर सांसद सुधीर गुप्ता, इंदौर विधायक सुदर्शन गुप्ता, ऊषा ठाकुर, पूर्व सांसद मीनाक्षी नटराजन, जीतू जिराती और घनश्याम कांकाणी सहित कई नेता पीड़ित बच्ची से मिलने एमवाय अस्पताल पहुंच और परिजन और डॉक्टरों से बात करते रहे। बच्ची से मिलने के बाद आक्रोशित विधायक ऊषा ठाकुर ने कहा कि आरोपियों को सरेआम फांसी दी जाए। इन्हें श्मशान में भी जगह नहीं मिलनी चाहिए। जब चील-कौवे इनकी लाश खाएंगे, तब जाकर ऐसे नर-पिशाचों की संवेदना शायद जाग सके, इन्हें खुलेआम शूट कर देना चाहिए। सांसद सुधीर गुप्ता ने कहा कि यह बहुत की हैवानियतभरी घटना है। बच्ची को जल्द से जल्द न्याय दिलवाया जाएगा। फास्ट ट्रैक कोर्ट में केस चलवाकर आरोपी को जल्द से जल्द सजा दिलवाया जाएगा। दो है आरोपी इस घटना में 2 आरोपियों के शामिल होने की बात सामने आई है। हालांकि अभी एक ही आरोपी इमरान पकड़ में आया है। मन्दसौर की सात साल की इस बालिका के साथ स्कूल से लौटते वक्त अपहरण कर आरोपियों ने दरिंदगी पूर्ण तरीके से दुष्कर्म कर उसे झाड़ियों में फेंक दिया था। उसे गम्भीर हालत में इंदौर के एमवाय लाये है।

Spread the love

20

इंदौर