Jun 25 2019 /
2:56 AM

गृह व कुछ अन्य मलाईदार विभागों की ‘खींचतान’ में नहीं बंट पाए कमलनाथ कैबिनेट के विभाग

भोपाल। बुधवार देर रात तक भी टीम कमलनाथ में 28 केबिनेट मंत्रियों के विभागों का बंटवारा नही हो पाया। बताते है कि गृह व कुछ अन्य मलाईदार विभागों की ‘खींचतान’ में ये नहीं बंट पाए। मंत्रियों की शपथ के बाद से ही विभागों के बँटवारे को लेकर घमासान जारी हैं।

दिन भर सोशल मीडिया पर विभागों के बंटवारे की फेक सूची चलती रही जिसमें तुलसी सिलावट को गृह विभाग सौपे जाने की बात भी कही गई थी। फ़िलहाल विभागों के बँटवारों को लेकर Cm हाउस में अंतिम खींचतान जारी है। सूत्रों के अनुसार सब विभागों के बँटवारा गुरुवार को होगा।

कमलनाथ की दो टूक

इसके पहले मुख्यमंत्री कमलनाथ ने केबिनेट की बैठक में दो टूक कहा कि सभी मंत्री अपने विभाग के लिए जिम्मेदार रहेंगें। सरकारी योजनाओं के नियमित क्रियान्वयन के लिए विभाग से जुड़े अफसर जिम्मेदार होंगे।

हर कैबिनेट में एक विभाग का साप्ताहिक प्रोग्रेसिव प्रजेंटेशन होगा। कमलनाथ बोले कि सभी मंत्री विभाग की नीति/ नियम खुद सुनिश्चित करेंगें। सीएम हाउस में या सचिवालय में शासकीय काम की फ़ाईल कम से कम पहुँचे ..

यह अनिवार्य करना होगा। मंत्री ही सबसे शक्तिशाली होंगें जो व्यवस्था को चलाकर कैबिनेट में अपडेट करेंगें। जनता की सेवा के लिए सरकार है ऐसा आभास होना चाहिए। बैठक में ज़ीरो टॉलरेंस पर भी सीएम का ज़ोर रहा।
अनुशासन समिति में इंदौर के शेखर भी

इधर प्रदेश कांग्रेस की अनुशासन कार्यवाही समिति का पुनर्गठन भी किया गया। पूर्व मंत्री हजारीलाल रघुवंशी को समिति का चेयरमेन बनाया गया है। प्रदेश संगठन प्रभारी एवं उपाध्यक्ष इंदौर के चंद्रप्रभाष शेखर को समिति का को-चेयरमेन तथा पूर्व विधायक चंद्रमोहन दास, एडवोकेट सैयद साजिद अली, पूर्व विधायक विनयशंकर दुबे, पूर्व सांसद सत्यनारायण पंवार, पूर्व मंत्री श्रीमती मंजू राय और श्रीमती विभा पटेल पूर्व महापौर को सदस्य बनाया गया है।

प्रदेश कांग्रेस मीडिया विभाग की अध्यक्ष शोभा ओझा ने बताया कि यह समिति प्रदेश में संपन्न विधानसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस प्रत्याशियों एवं जिला अध्यक्षों द्वारा भीतरघात करने एवं अनुशासनहीनता करने वाले लोगों के संबंध में प्राप्त शिकायतों की जांच कर अपना मत प्रदेश कमेटी को देगी। पुनर्गठित समिति की प्रथम बैठक बुधवार, 2 जनवरी, 2019 को दोपहर दो बजे प्रदेश मुख्यालय के सभाकक्ष में रखी गई है।

Spread the love

इंदौर