रेप मामलों के लिए फ़ास्ट ट्रेक कोर्ट्स बनाई जाए CM का पत्र चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया के नाम

भोपाल। मप्र के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया को एक पत्र लिखा है। इसमे बच्चियों के साथ होने वाली रेप की धटनाओं पर चिंता जताते हुए उन्होंने लिखा है कि वे मानते है
कि एक बच्ची माँ दुर्गा का रूप होती है ओर उसी कारण मैने मेरे विकास कार्यो की शुरुआत बच्चियों ओर महिलाओं की कल्याणकारी योजनाओं से की है।
मप्र पहला ऐसा राज्य है जिसने 12 साल से कम उम्र की बच्चियों से रेप में फाँसी का प्रावधान एक्ट बनाकर किया है।
उदाहरण देते हुए उन्होंने बताया कि ऐसे ही इस तरह के केस में 7 दिन में विवेचना पूरी कर 22 दिन में निचली कोर्ट से आरोपी को सजा सुनाए जाने का भी मामला इंदौर में हुआ है,
लेकिन इसके बाद ऊपर की कोर्ट्स में अपील का निराकरण नही होने तक अपराधी को दंड नही मिल पाता है।
अतः ऐसे केस में जल्द निर्णय हेतु हायर कोर्ट्स में भी फ़ास्ट ट्रेक कोर्ट्स बनाई जाए ताकि रेप पीड़िता को जल्द न्याय मिल सके।
इसके लिए आवश्यक प्रयास करने का आग्रह उन्होंने किया है।

देखें पत्र-
CJI

Spread the love

इंदौर