तो बेटे को मैं खुद दूंगा फांसी

इंदौर। मंदसौर में मासूम से सामूहिक दुष्कर्म के आरोपी इरफान के पिता जहीर खां भी बेटे के कृत्य से आक्रोशित हैं। पेशे से ट्रक ड्राइवर जहीर खां का कहना है कि दोषी साबित होने पर बेटे को फांसी का फंदा लगाने का काम मुझे ही सौंपा जाए। इससे मुझे सुकून मिलेगा।

जहीर खां ने बताया कि इरफान शराब पीने का आदी था। वारदात वाले दिन उसने अपना मोबाइल फोन आसिफ के साथ मिलकर पांच हजार रुपये में बेचा था। उन्होंने कहा कि मेरी भी पांच बेटियां हैं। किसी भी बिटिया के साथ गलत होता है तो आरोपित को कड़ी से कड़ी सजा मिलना चाहिए। इरफान पर मारपीट के भी दो प्रकरण दर्ज हैं

कार्टून देखा, गेम खेला
इधर इंदौर में एमवाय अस्पताल में भर्ती पीडि़ता की हालत में लगातार सुधार हो रहा है। मंगलवार को उसे प्राइवेट वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया। वह दिनभर टीवी पर अपना पसंदीदा कार्टून चैनल देखती रही। डॉक्टरों ने उसकी काउंसलिंग भी की। वार्ड में शिफ्ट होते ही बच्ची ने टीवी देखने की फरमाइश की।

डॉक्टरों ने टीवी चालू किया तो उसने पसंदीदा कार्टून देखने की इच्छा जताई। दिनभर टीवी देखने के साथ उसने बीच-बीच में कभी टैबलेट पर पसंदीदा गेम खेला तो कभी गाने सुनने की फरमाइश की।

Spread the love

15

इंदौर