महापौर चुनाव बिल नहीं रोकें, यह ग़लत परम्परा होगी, ज़रा सोचिए…, कांग्रेस सांसद विवेक तनखा ने ट्वीट कर राज्यपाल से कहा

भोपाल। नगरीय निकाय चुनावों से जुड़े विधेयकों (बिल) को लेकर गवर्नर को भेजे गए दो अध्यादेश में से मेयर के अप्रत्यक्ष चुनाव से जुड़े अध्यादेश को फिलहाल रोक दिया है।

इसे लेकर कांग्रेस सांसद विवेक तनखा ने ट्वीट कर राज्यपाल से कहा है कि ‘महापौर चुनाव बिल नहीं रोकें, ‘यह ग़लत परम्परा होगी, ज़रा सोचिए…,’

तनखा ने अपने ट्वीट में लिखा कि ‘सम्माननीय राज्यपाल, आप एक कुशल प्रशासक थे और है।संविधान में राज्यपाल कैबिनेट की अनुशंसा के तहत कार्य करते है। इसे राज्य धर्म कहते है। विपक्ष के बात सुने मगर महापौर चुनाव बिल नहीं रोके। यह ग़लत परम्परा होगी। ज़रा सोचिए।⁦’

(देखें ट्वीट)

इधर ऑल इंडिया मेयर्स काउंसिल के संगठन मंत्री उमाशंकर गुप्ता ने राज्यपाल से मिलकर इस मामले में कहा था कि अप्रत्यक्ष नहीं, सीधे चुनाव होने चाहिए, जैसे पिछल बार हुए थे।

Spread the love

इंदौर