शिवराज के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पेश

भोपाल। सोमवार से शुरू हुए मानसून सत्र के दौरान कांग्रेस ने शिवराज सरकार के विरूद्ध अविश्‍वास प्रस्‍ताव पेश कर दिया। सदन की शुरुआत में ही कांग्रेस विधायक नारेबाज़ी करते हुए आये। हालांकि बाद में हंगामें के चलते मंगलवार सुबह तक के लिए सदन की कार्यवाही स्‍थगित कर दी गयी। कांग्रेस ने पहले से ही इस सत्र में अविश्वास प्रस्ताव लाने की सूचना विधानसभाध्यक्ष दे दी थी। अध्यक्ष डॉ. सीतासरण शर्मा अब इस प्रस्ताव का परीक्षण कर निर्णय लेंगे।

सरकार से मांग हैं जवाब

इस अविश्वास प्रस्ताव में कांग्रेस ने विभिन्न मुद्दों पर शिवराज सरकार को घेरते हुए पिछले 5 सालों का हिसाब मांगा। मुख्य रूप से ई-टेंडरिंग घोटाला, पदेश पर बढ़ता कर्ज़, कुपोषण की स्थिति, महिला अपराध, किसानों की आत्महत्या, नर्मदा सेवा यात्रा और प्याज घोटालों को उठाया जा रहा है। आज उस प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान ही उस समय हंगामे कु स्थिति बन गयी जब सरकार ने इस पर बहस की बजाय अनुपुरक बजट सहित 17 विधेयक पेश कर दिए। इसके बाद सदन में कांग्रेसी विधायक हंगामा करते रहे और अध्यक्ष ने सदन की कार्यवाही दिनभर के लिए स्थगित कर दी गई। कांग्रेस ने मन्दसौर गोलीकांड जांच आयोग की रिपोर्ट भी सदन में रखने की मांग की नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने कहा कि यह सत्र कम दिनों का है, हमने इसकी अवधि बढ़ाने की मांग की है।

Spread the love

इंदौर