दतिया में एक ही फंदे पर झूलीं ननद-भाभी, दोनों में गहरी दोस्ती होने को लेकर पति करता था झगड़ा

दतिया जिले के भांडेर थाना में दो महिलाएं एक ही फंदे पर झूल गई। दोनों महिलाएं, गांव के रिश्ते से ननद-भाभी लगती थीं। दोनों में गहरी दोस्ती थी। पुलिस दोनों महिलाओं के सुसाइड के कारणों की जांच कर रही है।

भांडेर थाना प्रभारी रविंद गुर्जर के मुताबिक बराना बड़ेरा गांव में रहने वाली पूनम (30) पत्नी रामू यादव ने अपने घर से करीब 100 मीटर दूर रहने वाली रिश्ते में ननद मंजू (22) पत्नी अंकित यादव को फोन कर अपने घर बुलाया। इसके बाद दोनों महिलाएं आपस में बातचीत करती रहीं। इस समय पूनम का पति रामू और उसके ससुर गिरवर, बाड़ा में भैंसों का दूध निकालने के लिए चला गया। वहीं, पूनम का पांच साल का बेटा संस्कार उर्फ रानू घर के बाहर खेल रहा था। जब संस्कार ने अंदर जाकर देखा तो उसकी मां व बुआ ने गेट बंद कर लिया और वो गेट खोल नहीं रही थीं तब वो बाड़े में पहुंचा।

अपने पिता रामू और दादा गिरवर से मां द्वारा गेट न खोलने की बात कही। इसके बाद जब रामू घर आया तो उसके आवाज देने के बाद भी गेट नहीं खुला। रामू ने पुलिस को बताया कि इस घटना के बाद मंजू की भाभी आकांक्षा को बुलाकर लाया और हम दोनों ने गेट खोला। वहीं आकांक्षा का कहना है कि रामू बुलाने आया। जब मैं मौके पर पहुंची तो गेट खुला हुआ था। दोनों का फंदा मैंने हसिए से काटकर उतारा। इसके बाद देखा तो दोनों की मौत हो चुकी थी।

पुलिस के मुताबिक, पूनम की शादी को करीब छह से सात साल हो चुके हैं, जबकि मंजू की शादी 20 जून को दतिया जिले में हुई थी। मंजू 23 जुलाई से अपने मायके रह रही थी। वो रक्षाबंधन के बाद ससुराल जाने वाली थी। दोनों महिलाओं में गहरी दोस्ती होने को लेकर पूनम और उसके पति रामू में झगड़ा होता था। इसी बात को लेकर रविवार को भी झगड़ा हुआ था। इसके बाद पूनम ने मंजू को बुलाया और दोनों एक साथ फंदे पर लटक गईं। पुलिस पूरे मामले की तह तक जाने का प्रयास कर रही है।

Spread the love

इंदौर