Aug 21 2019 /
10:16 AM

नर्मदा नियंत्रण प्राधिकरण के खिलाफ हजारों डूब वासी सड़कों पर उतरे, खलघाट पर धरना, हाइवे जाम

खलघाट। नर्मदा नियंत्रण प्राधिकरण के निर्णय के खिलाफ हजारों डूब वासी आज सड़कों पर उतर आए और खलघाट पर धरना शुरू कर दिया। इसका नेतृत्व नर्मदा बचाओ आंदोलन की मेधा पाटकर कर रही है। इस आंदोलन के चलते नेशनल हाइवे पर दोनों तरफ वाहनों की कतारें लगने से जाम की स्थिति बन गई। इन डूब वासियों आज दोपहर 12 बजे से शुरू किया यह

जीवन रेखा आंदोलन

शाम 6 बजे तक जारी रहेगा। सरदार सरोवर में 139 मी तक पानी भरके हजारों परिवारों को (महाराष्ट्र, गुजरात के अलावा), खेत, मकान,मन्दिर – मस्जिद के साथ, लाखो पेड़ आदि को डूबाने का केंद्र और गुजरात के साथ नर्मदा नियंत्रण प्राधिकरण के निर्णय के खिलाफ यह आक्रोश है।

नर्मदा बचाओ आंदोलन की विज्ञप्ति के अनुसार कल पानी में करंट लगने से दो मृत्यू हुई है, तो क्या हजारों की बरबादी, गाँव-समाजो की हत्या होगी? इनका कहना है कि बिना पुनर्वास डूब मंजूर नहीं है। शासन नर्मदा का जलस्तर 122 मी पर रोके और सभी न्यायालयीन आदेशों का पालन करे ।

Spread the love

इंदौर