Aug 21 2019 /
10:41 AM

मकान तोड़ा तो माँ बेटी ने खुद को आग लगाई, तहसीलदार को बंधक बनाया, फ्री में आम न देने पर होमगार्ड ने महिला की हत्या की

भोपाल। मप्र में मंगलवार को दो बड़ी घटनाएं हुईं। एक मुरैना में हुई जहाँ एक घर तोड़े जाने पर माँ बेटी ने खुद को आग लगा ली। इसके बाद आक्रोशित ग्रामीणों ने तहसीलदार को बंधक बना लिया। दूसरी घटना में एक होमगार्ड ने फ्री में आम ना देने पर महिला की लाठी से पीट कर हत्या कर दी।

पहला मामला मुरैना के पोरसा इलाके के पचपेड़ा गांव का है। यहां एक मंदिर की जमीन पर बने घर को तोड़ने गईं तहसीलदार भूमिजा सक्सेना को ग्रामीणों ने बंधक बना लिया। इन्हें छुड़ाने कलेक्टर और एसपी फोर्स के साथ पहुंचे। आक्रोशित ग्रामीणों ने पथराव कर दिया। ग्रामीणों नेतहसीलदार की गाड़ी तोड़ डाली और जेसीबी को आग लगा दी।

बताते है कि जिस घर को तोड़ने के लिए प्रशासनिक अमला पहुंचा था इसे देखकर वहां रहने वाली राजाबेटी ने कहा कि उसका घर तोड़ा गया तो वह खुद को आग लगा लेगी। अमला नही माना तो महिला 2 बेटियों के साथ घर में घुसी और मिट्टी का तेल छिड़क कर आग लगा ली।

महिला के आत्मदाह के प्रयास से अधिकारियों के हाथ-पैर फूल गए। तुरंत महिला की आग को बचाया गया। लेकिन, इसमें वह और एक बेटी 60-70 फीसदी झुलस गईं। जबकि एक अन्य बेटी का पता नहीं चला। महिला को मुरैना के जिला अस्पताल भेजा गया।

उधर, महिला के आत्मदाह की कोशिश के बाद ग्रामीण भड़क गए। ग्रामीणों ने तहसीलदार भूमिजा सक्सेना को बंधक बना लिया। पुलिस दल पर पथराव शुरू कर दिया। बाद में वरिष्ठ अधिकारियों ने पहुँचकर स्थिति को नियंत्रित किया।

दूसरी घटना छतरपुर की है। जिले के पिपट थाना अंतर्गत ग्राम पनागर गांव में रहने वाली विमला अपनी जेठानी मोहिनी के साथ आम बीनकर बाजार में बेचने आई थी। यहां महिलाओं की दुकान पर होमगार्ड में जवान महेश पहुंचा और विमला से आम फ्री में देने कहा।

आरोप है कि जब विमला ने मना कर दिया तो होमगार्ड जवान ने महिला के सिर डंडे मारना शुरू कर दिए। महिला की चीख सुनकर उसे बचाने आई जेठानी मोहिनी की भी होमगार्ड जवान वे डंडे से पीट दिया। घायल अवस्था में विमला को अस्पताल ले जाया गया। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

Spread the love

इंदौर