अमरनाथ यात्रा फिर बाधित, 9 मौते

श्रीनगर। इस बार अमरनाथ यात्रा में प्राकृतिक आपदा कुछ ज्यादा ही आ रही है। भारी बारिश और भूस्खलन के चलते यात्रा को फिर रोकना पड़ा। अभी तक 9 श्रद्धालुओं की मौत हो चुकी है।

पहलगाम और बालटाल के रास्तों में भूस्खलन होने के कारण यात्रियों को आगे जाने से रोक दिया गया है।

यात्रा के दौरान अब तक कुल नौ श्रद्धालुओं की मौत हो गई है, जबकि चार लोग घायल हैं।

घायलों में एक श्रद्धालु और तीन स्थानीय लोग शामिल हैं। भारी बारिश से रास्ते फिसलन भरे हो गए हैं और जगह-जगह भूस्खलन के कारण मलबा इकट्ठा हो गया है।

रास्तों से मिट्टी हटाने का काम तेजी से जारी है। तब तक के लिए यात्रियों को कैंपों में ही रहने का आदेश दिया गया है।

पूरी तरह से मलबा हटने और मौसम साफ होने के बाद ही यात्रियों को आगे रवाना किया जाएगा।

इसके पहले खराब मौसम के चलते बीते शनिवार से यात्रा रुकी हुई थी।

मंगलवार को मौसम साफ होने पर यात्रा को शुरू किया गया लेकिन शाम को अचानक मौसम खराब होने पर यात्रा रोक दी गई।

मंगलवार को करीब तीन हजार श्रद्धालुओं का चौथा जत्था रवाना किया गया था। मंगलवार की शाम करीब 6 बजे अचानक मौसम खराब हो गया और तेज बारिश होने लगी।

तेज बारिश के कारण बालटाल में चार अलग-अलग स्थानों पर भूस्खलन हुए।

इनमें से तीन भूस्खलन बालटाल कैंप इलाके में हुए। इसके अलावा एक भूस्खलन अमरनाथ यात्रियों के ट्रेकिंग मार्ग रेल पथरी में हुआ।

ऊपर से अचानक मिट्टी और पत्थर गिरने लगे। मलवे के अंदर कई लोग दब गए।

सेना और एनडीआरएफ के जवानों ने मलवे में दबे लोगों को बाहर निकाला। घायलों को तुरंत अस्पताल में भर्ती कराया गया।

Spread the love

इंदौर