Dec 05 2022 / 2:20 PM

झारखंड में बोले अमित शाह- अब राम जन्मभूमि पर आसमान छूने वाला भव्य मंदिर बनेगा

रांची। झारखंड में एक बार फिर से सत्ता में बीजेपी की वापसी के लिए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने खुद कमान कस ली है और चुनाव प्रचार का उन्होंने शंखनाद भी कर दिया है। गृह मंत्री अमित शाह ने गुरुवार को झारखंड में दो जगह मनिका और लोहरदगा में चुनावी सभाओं को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि हर कोई चाहता था कि अयोध्या में मंदिर बने, लेकिन कांग्रेस कोर्ट में केस ही नहीं चलने देती थी। अभी सर्वानुमति से यह निर्णय कर दिया है। राम जन्मभूमि पर आसमान छूने वाला मंदिर बनेगा।

शाह ने यह भी कहा, हम चाहते थे कि कोर्ट फैसला करे और संवैधानिक रूप से इस विवाद का अंत हो। और देखिए सुप्रीम कोर्ट ने इसका समाधान कर राम मंदिर के निर्माण का प्रशस्त कर दिया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश की एक के बाद एक समस्याओं का समाधान कर रहे हैं। झारखंड में 5 चरणों में 30 नवंबर से 20 दिसंबर तक वोटिंग होगी। 23 दिसंबर को मतगणना होगी।

अमित शाह ने कांग्रेस को निशाने पर लेते हुए कहा कि वोट के लालच में कांग्रेस ने कश्मीर से अनुच्छेद 370 का समाधान नहीं निकाला। नरेंद्र मोदी सरकार ने भारत माता के मुकुट पर लगे इस कलंक को हटाकर इस समस्या का समाधान कर दिया। उन्होंने कहा कि मनमोहन की सरकार ने झारखण्ड को केवल 55 हजार करोड़ रुपये दिए थे। जबकि, नरेंद्र मोदी सरकार ने झारखंड के विकास के लिए इससे छह हजार गुना अधिक धन 3 लाख 8 हजार 487 करोड़ रुपये दिए हैं।

शाह ने कहा कि भगवान बिरसा मुंडा के सपने को पूरा करने के लिए मोदी सरकार दिन-रात काम कर रही है। झारखंड की रघुवर दास की सरकार ने सबसे बड़ा काम जो किया है, वह है नक्सलवाद को खत्म करने की दिशा में। रघुवर सरकार ने 5 साल के अंदर झारखंड में नक्सलवाद को खत्म करने काम किया है। इसी का परिणाम है कि प्रदेश के हर गांव में बिजली, रोड, चूल्हा आदि पहुंच चुका है। यह इसलिए संभव हो पाया कि झारखण्ड में डबल इंजन की सरकार है।

शाह ने कहा कि आदिवासी भाइयों-बहनों के लिए मोदी सरकार ने बहुत काम किए हैं। 5 साल के अंदर आदिवासियों का गौरव बढ़ाने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी है। डिस्ट्रिक्ट मिनरल फंड की हमने रचना की, इस फंड से 32 हजार करोड़ रुपये आदिवासी भाइयों-बहनों के विकास के लिए दिए गए।

Share with

INDORE