चर्चित अशोक कुमायूं हत्याकांड में दो को उम्रकैद

इंदौर। शहर में करीब आठ साल पहले हुए चर्चित अशोक कुमायूं हत्याकांड में
गुरुवार को विशेष जज बीके द्विवेदी की कोर्ट ने फैसला सुनाया। इसमें दो
आरोपियों को उम्रकैद व जुर्माने की सजा सुनाई गई।

इसी हत्याकांड में कुख्यात गुडा रमेश टोकनीवाला भी आरोपी था जिसकी केस की ट्रायल के दौरान
27 जुलाई 2016 को मौत हो चुकी है जबकि उसकी पत्नी शोभा को कोर्ट ने
दोषमुक्त कर दिया।

जिन्हें सजा हुई उनमें एक मोहित उर्फ गोलू पिता संतोष श्रीवास निवासी
जबलपुर और अजय उर्फ नानू पिता महेन्द्र गिरी निवासी मालीपुरा इंदौर
है।

वारदात दो जनवरी 2010 को दोपहर में रावजी बाजार थाना क्षेत्र के
मुराई मोहल्ला में हुई।

दोपहर में यहां रहने वाला अशोक कुमायूं अपनी पान की दुकान पर बैठा था तभी मोहित व अजय बाइक पर आए और उसे गोली मार कर
हत्या कर दी। अशोक के भाई महेश का कुख्यात रमेश टोकनीवाला से विवाद चल रहा था, इसी के चलते यह हत्या हुई।

छानबीन में पुलिस ने पाया कि अशोक की हत्या का षडयंत्र रमेश टोकनीवाला ने जबलपुर जेल में बंद रहने के दौरान रचा था और वहीं बंद बदमाश मोहित को इस हत्या की सुपारी दी थी। इस षडयंत्र में रमेश की पत्नी शोभा भी शामिल रही।

इसके तहत मोहित जबलपुर से इंदौर आया और अजय के साथ मिलकर अशोक की हत्या कर दी।
रावजी बाज़ार पुलिस ने मोहित व अजय के साथ रमेश और उसकी पत्नी शोभा को भी आरोपी बनाया था।

Spread the love

इंदौर