Mar 20 2019 /
11:08 AM

सिख दंगों में उम्र कैद की सजा पाने वाले कांग्रेस नेता सज्जन कुमार ने कोर्ट में किया सरेंडर, जेल भेजा

नईदिल्ली। सोमवार को करीब 34 साल पहले 1984 में हुए सिख विरोधी दंगों के मामले में उम्रकैद की सजा पाए पूर्व कांग्रेसी नेता सज्जन कुमार ने दिल्ली के कड़कड़डूमा कोर्ट में सरेंडर कर दिया।

कोर्ट ने उन्हें पूर्वी दिल्ली स्थित मंडोली जेल भेजने का आदेश दिया है। सज्जन से पहले 2 दोषियों- महेंद्र यादव और किशन खोखर ने भी सरेंडर किया।

कोर्ट ने महेंद्र यादव को अपनी टहलने की छड़ी और चश्मों को जेल ले जाने की इजाजत दे दी। यादव और खोखर को 10-10 साल की सजा हुई है। 17 सितंबर को दिल्ली हाई कोर्ट ने सज्जन कुमार को दिल्ली कैंट इलाके में 5 सिखों की हत्या के लिए दोषी ठहराया था।

हाई कोर्ट ने कुमार के आत्मसमर्पण करने के लिए 31 दिसंबर तक की समयसीमा निर्धारित की थी। उन्होंने मेट्रोपोलिटन मैजिस्ट्रेट अदिति गर्ग के समक्ष आत्मसमर्पण किया।

कोर्ट ने सज्जन कुमार की अदालत ने सज्जन कुमार की सुरक्षा संबंधी अनुरोध को स्वीकार किया। उन्हें एक अलग वाहन में जेल ले जाया गया। सज्जन ने कोर्ट से खुद को तिहाड़ जेल में रखने की गुजारिश की, लेकिन कोर्ट ने उनकी यह मांग ठुकरा दी।

Spread the love

इंदौर