महाराष्ट्र में फडणवीस व हरियाणा में खट्टर ही रहेंगे मुख्यमंत्री, भाजपा की वापसी लेकिन प्रदर्शन बिगड़ा

दिल्ली। महाराष्ट्र में देवेंद्र फडणवीस व हरियाणा में मनोहर लाल खट्टर ही पुनः मुख्यमंत्री बनेंगे। इन दोनों ही राज्यों में भाजपा की वापसी हुई है लेकिन पूर्व के मुकाबले इस बार प्रदर्शन बिगड़ गया है।


महाराष्ट्र में भाजपा और शिवसेना गठबंधन को 288 में से 161 सीटों पर जीत के साथ स्पष्ट बहुमत मिला है। भाजपा नेतृत्व ने भी दोनों राज्यों में अपने मुख्यमंत्रियों पर भरोसा जताया है। जीत के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी हरियाणा में मनोहर लाल खट्टर और महाराष्ट्र में देवेंद्र फड़नवीस को फिर कमान सौंपने की पुष्टि की है।

मनोहर लाल शुक्रवार को राज्यपाल से मिलकर सरकार बनाने का दावा पेश करेंगे
हरियाणा में नतीजे काफी चौंकाने वाले रहे। यहां सबसे ज्यादा चौंकाया सालभर पहले अस्तित्व में आई जननायक जनता पार्टी (जजपा) ने। साल भर पहले ही पारिवारिक विवाद के बाद इनेलो से अलग होकर दुष्यंत चौटाला ने पार्टी गठित की थी। जजपा ने पहली ही बार में 10 सीटों पर जीत हासिल कर ली।

नतीजों के बाद जजपा को किंगमेकर की भूमिका में देखा जा रहा था। हालांकि भाजपा को सात में से छह निर्दलीयों का समर्थन मिलने के बाद जजपा का चमत्कारिक प्रदर्शन भी उसे कुछ खास फायदा दिलाता नहीं दिख रहा है।


यहां कांग्रेस 15 से 31 सीट पर पहुंच गई। चुनाव के ठीक पहले पार्टी में उभरी कलह और उठापटक के बावजूद ये नतीजे कार्यकर्ताओं का उत्साह बढ़ाने वाले हैं। सीटों के लिहाज से नतीजे भाजपा के लिए थोड़ा निराशाजनक रहे। पिछले साल 47 सीटें जीतने वाली भाजपा 40 सीटों पर आ गई।


इधर महाराष्ट्र में बीजेपी को 2014 विधानसभा में 122 सीटें मिलीं थी और इस बार अकेले बीजेपी सिर्फ 105 सीटों पर आगे है, यानि पिछले चुनाव के मुकाबले दोनों राज्यों में बीजेपी को सीटों का नुकसान हुआ है।


महाराष्ट्र में बीजेपी और उसकी सहयोगी शिवसेना को 161 सीटें मिली हैं. इसके अलावा कांग्रेस और उसकी सहयोगी पार्टियों को करीब 100 सीटें मिली हैं. अन्य के खाते में 27 सीटें गई हैं।

Spread the love

7

इंदौर