Nov 29 2022 / 2:55 AM

खाटूश्यामजी का लक्खी मेला कल से,जानिए कैसी रहेगी मेले की व्यवस्था

जयपुर: खाटूश्याम मंदिर समिति ने खाटू मेला 2022 को लेकर तैयारियां शुरू कर दी हैं। इस मेले में लाखों भक्तों के आने की अनुमान है। 6 मार्च से खाटूश्यामजी में लक्खी मेला शुरू हो रहा है। 15 मार्च तक चलने वाले मेले में राजस्थान के अलावा दिल्ली, हरियाणा, गुजरात, कलकत्ता, मध्यप्रदेश सहित देशभर से 25 लाख से ज्यादा भक्त दर्शन करने आएंगे।यह राजस्थान के सबसे बडे़ मेलों में से एक है। इस दौरान खाटू बाबा के दर्शनों के लिए दे ही नहीं विदेश भी भक्त यहां आते हैं। कहते है कि यहां आने वाले हर भक्त की बाबा हर प्रार्थना को स्वीकार कर मनोकामना पूरी करते है।

ऐसी रहेगी लक्खी मेले की व्यवस्था

  1. कोरोना की गाइडलाइन को ध्यान में रखते हुए सीकर जिला कलेक्टर ने निर्देश दिए कि मेले में आने वाले श्याम भक्तों को वैक्सीन की दोनों डोज अनिवार्य है।
  2. कोरोना के चलते इस बार भी भजन संध्या, डीजे व भंडारों पर रोक रहेगी। स्वयंसेवी संस्थाएं सिर्फ पेय पदार्थ वितरित कर सकेंगी।
  3. मेले में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम रहेंगे। आठ सेक्टर में तीन हजार पुलिसकर्मी तैनात किए जाएंगे। जिग जैग बैरिकेडिंग, लाइट जैसे इंतजाम श्रीश्याम मंदिर कमेटी की ओर से किए जाएंगे।
  4. मेले में आने के लिए आनलाइन पंजीयन जरूरी नहीं है। राजस्थान के श्याम भक्तों के लिए दोनों डोज का प्रमाण पत्र और बाहरी श्याम भक्तों के लिए 72 घंटे तक की आरटीपीसीआर रिपोर्ट जरूरी रहेगी

इससे मेले में दिल्ली, यूपी, कोलकाता सहित दूर दूर के शहरों से भी भक्तजन खाटू मेले में पहुंचते है। भक्तों की सुविधा के लिए जहां रेलवे भी मेला के लिए अतिरिक्त ट्रेन का संचालन करता है। वही हरियाणा रोडवेज भी मेला स्पेशल बसों का संचालन करती है। जिसके लिए पहले सीकर आगार चीफ की अनुमति लेनी आवश्यक होती है।

नारनौल डिपो के सीआई सतीश कुमार ने बताया कि बृहस्पतिवार को सीकर आगार चीफ ने उन्हें नारनौल डिपो से खाटू श्याम मेला स्पेशल बसे चलाने की अनुमति प्रदान कर दी है। अब सोमवार को जीएम के साथ मिलकर बसों के संचालन बारे विचार विमर्श किया जाएगा

Share with

INDORE