Jun 25 2019 /
3:17 AM

मुसलमानों से वोट की अपील करने में मायावती व अली-बजरंगबली पर फंसे योगी, चुनाव आयोग ने की यह कार्रवाई

दिल्ली। मुसलमानों से वोट की अपील करने में बसपा प्रमुख मायावती व अली-बजरंगबली पर यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ फंस गए है। लोकसभा चुनाव के बीच नेताओं के विवादित बयानों पर चुनाव आयोग ने सख्त रुख अपनाते हुए यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के चुनाव प्रचार पर 72 घंटे की रोक लगा दी है।

वहीं बीएसपी सुप्रीमो मायावती 48 घंटे प्रचार नहीं कर पाएंगी। आयोग का यह आदेश मंगलवार सुबह 6 बजे से प्रभावी होगा। माना जा रहा है कि अब जया प्रदा के खिलाफ अमर्यादित टिप्पणी को लेकर आयोग समाजवादी पार्टी के नेता आजम खान के खिलाफ भी सख्त कार्रवाई कर सकता है। गौरतलब है कि एक चुनावी रैली में मुसलमानों से वोट की अपील कर मायावती फंस गई थीं। मायावती ने 7 अप्रैल को अपने बयान में कहा था, ‘कांग्रेस मानकर चल रही है हम जीतें या न जीतें लेकिन गठबंधन नहीं जीतना चाहिए, इसलिए कांग्रेस ने ऐसी जाति और ऐसे धर्मों के लोगों को खड़ा किया है जिससे बीजेपी को फायदा पहुंचे।

मैं मुस्लिम समाज के लोगों को कहना चाहती हूं कि आपको वोट बांटना नहीं है बल्कि एकतरफा वोट देकर गठबंधन को कामयाब बनाना है।’ मायावती के इस बयान को लेकर चुनाव आयोग ने उनसे जवाब तलब किया था। अब आयोग ने कड़ी कार्रवाई करते हुए मायावती को अगले 48 घंटे तक प्रचार से रोक दिया है। इसके अलावा अली और बजरंगबली को लेकर एक चुनावी सभा में दिए गए बयान पर आयोग ने सीएम योगी आदित्यनाथ को नोटिस जारी किया था। अब इस मामले में आयोग ने योगी पर कड़ी कार्रवाई करते हुए 3 दिन तक प्रचार पर रोक लगा दी है।

Spread the love

इंदौर