प्रधानमंत्री ने आंखे मूंद ली है:राहुल गांधी

 

नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उपराज्यपाल के बीच चल रहे गतिरोध की वजह से दिल्ली की जनता परेशान है. पिछले कई दिनों से दिल्ली के सीएम अपने 4 मंत्रियों के साथ एलजी ऑफिस में धरना दे रहे हैं. सोमवार को दो मंत्रियों की तबीयत बिगड़ने के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा. आम आदमी पार्टी के समर्थन में कई पार्टियां आगे आ रही हैं. गैर बीजेपी शासित राज्यों राज्यों के मुख्यमंत्रियों के समर्थन शिवसेना प्रमुख उधव ठाकरे ने भी इस मुद्दे को लेकर केजरीवाल का समर्थन किया है.

इस बीच कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के उप राज्यपाल कार्यालय में धरने को लेकर सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा और कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में अराजकता से जनता परेशान हैं लेकिन मोदी ने ‘अव्यवस्था’ को सुलझाने पर ध्यान देने की बजाय आंखे मूंद ली हैं.

 

राहुल गांधी ने ट्वीट किया, दिल्ली के मुख्यमंत्री उपराज्यपाल कार्यालय में धरने पर बैठे हैं. बीजेपी मुख्यमंत्री कार्यालय में धरने पर बैठी है. दिल्ली के नौकरशाह संवाददाता सम्मेलन संबोधित कर रहे हैं.’ उन्होंने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री मोदी ने दिल्ली में इस ‘अराजकता और अव्यवस्था’ को सुलझाने के लिए पहल करने की बजाय आंखे मूंद ली हैं. गांधी ने कहा कि दिल्ली में जो नाटक चल रहा है उससे जनता परेशान है. इससे पहले कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी ने कहा कि दिल्ली में जो हो रहा वो बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है. हम स्थिति पर नजर रखे हुए हैं.

इससे पहले कांग्रेस ने दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल के साथ मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के गतिरोध में मुख्यमंत्री के समर्थन में आए अन्य विपक्षी दलों के साथ खड़ा नहीं होने के अपने फैसले का बचाव किया था और वातानुकूलित कमरे में आप नेता के धरने ’ को ड्रामा करार दिया और आरोप लगाया कि उनकी पार्टी की कोई विचारधारा नहीं है. कांग्रेस ने कहा था कि केजरीवाल अलग – थलग महसूस कर रहे हैं , इसलिए वह हर जगह समर्थन की गुहार लगा रहे हैं , वह अपनी साख एवं जनाधार तेजी से खो रहे हैं. उन्होंने तीन क्षेत्रीय दलों समेत चार मुख्यमंत्रियों के समर्थन को भी यह कहते हुए तवज्जो नहीं दी कि वे दिल्ली में थोड़े ही चुनाव लड़ेंगे और यह तो आप नेता हैं जो जनता का सामना करेंगे.

Spread the love

इंदौर