Dec 02 2022 / 2:11 PM

2021 में 16वीं जनगणना मोबाइल ऐप से होगी: अमित शाह

नई दिल्ली। आज गृहमंत्री अमित शाह ने दिल्ली में जनगणना भवन की आधारशिला रखी। इस दौरान उन्होंने कहा कि जनगणना की पूरी बिल्डिंग ग्रीन होगी। नई जनगणना का ब्योरा इसी बिल्डिंग के माध्यम से रखा जाएगा। गृहमंत्री ने कहा कि जनगणना देश के भविष्य के विकास की योजना बनाने का आधार होती है। इसके लिए हर किसी की भागीदारी होना जरूरी है। 1865 के बाद इस बार 16वीं जनगणना होने जा रही है।

आकंड़े डिजिटल तरीके से उपलब्ध होंगे-
गृहमंत्री शाह ने कहा कि 2021 में जो जनगणना होगी उसमें मोबाइल ऐप का उपयोग किया जाएगा। इसमें आकंड़े डिजिटल तरीके से उपलब्ध होंगे। शाह ने कहा कि जनगणना जितनी बारीकी से की जाएगी उतनी ही देश के अर्थतंत्र को मजबूती मिलेगी। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार 22 योजनाओं का रेखांकन जनगणना के आधार पर कर रही है। बेटी पढ़ाओ और बेटी बचाओ की योजना भी इसी जनगणना के आंकड़ों के आधार पर निकली, जिस पर सही से काम किया जा रहा है।

जनगणना को संपूर्ण बनाने के लिए 16 भाषाओं को रखा गया-
केंद्रीय गृहमंत्री ने कहा कि जनगणना को संपूर्ण बनाने के लिए 16 भाषाओं को रखा गया है, जिससे लोग अपनी जानकारी आसानी से उपलब्ध करा सकें। उन्होंने कहा कि डिजिटल जनगणना होने पर आधार कार्ड, पैन कार्ड, बैंक कार्ड समेत सभी कार्ड एक जगह आ जाएंगे। इस दौरान उन्होंने कहा कि सरकार सभी जनगणनाओं में इस बार सबसे ज्यादा 12 हजार करोड़ रुपये खर्च करने जा रही है।

Share with

INDORE