Oct 17 2019 /
1:58 AM

जो जमानत पर हैं वो इंजॉय करें, हम कानून मानने वाले लोग: PM मोदी

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अभिभाषण पर राज्यसभा में बहस जारी है. आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लोकसभा में चर्चा का जवाब दिया और कांग्रेस पर जमकर तंज किया. वहीं राज्यसभा में पीएम मोदी बुधवार को चर्चा का जवाब दे सकते हैं. इस बयान में मोदी 2.0 का एजेंडा दिख सकता है. आज राज्यसभा में बीजेपी के दिवंगत सांसद मदनलाल सैनी को श्रद्धांजलि दी गई.

जिसे जमानत मिली वह इंजॉय करे:मोदी

लोकसभा में पीएम मोदी ने कहा कि जय जवान, जय किसान, जय विज्ञान के बाद अब जय अनुसंधान की जरूरत है. हमने अपने देश के भीतर ही ऐसा हीन भाव पैदा कर दिया, हमें पर्यटन पर और बल देने की जरूरत है. पीएम मोदी ने कहा कि देश को आधुनिक आधारभूत ढांचे की ओर लेकर जाना है, दुनिया से जो भी व्यवस्थाएं मिल सकती हैं उनका उपयोग करना है, सामान्य जन की जीवन को सुगम बनाना है. प्रधानमंत्री ने कहा कि गांव और शहर के लिए समान अवसर पैदा करने हैं.

उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार के खिलाफ हमारी लड़ाई जारी रहेगी, हमें इसलिए कोसा जा रहा कि फलाने को जेल में क्यों नहीं डाला, हम कानून से चलने वाले लोग हैं और किसी को जमानत मिली है तो वह इसका आनंद ले. लेकिन करप्शन के खिलाफ हमारी लड़ाई जारी रहेगी, हमें गलत रास्ते पर जाने की जरूरत नहीं है. पीएम का यह बयान कांग्रेस नेता अधीर रंजन के उस बयान के जवाब के तौर पर आया जिसमें उन्होंने कहा था कि सरकार सोनिया गांधी और राहुल गांधी को जेल में क्यों नहीं डाल देती.

3 सप्ताह में लिए जनहित के फैसले: मोदी

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आजादी के पहले मरने का मिजाज था और आजादी के बाद देश के लिए जीने का संकल्प है. पीएम मोदी ने कहा कि हमें राष्ट्रपति की अपेक्षा को पूरा करने के लिए आगे आना चाहिए. उन्होंने कहा कि छोटा सोचना मुझे पसंद नहीं है, सवा सौ करोड़ देशवासियों के सपने अगर पूरे करने हैं तो मुझे छोटा सोचने का अधिकार भी नहीं है. पीएम मोदी ने कहा कि हमें आराम का रास्ता पसंद नहीं, हम देश के लिए जीने आए हैं.

उन्होंने कहा कि 3 सप्ताह में सरकार ने कई अहम फैसले लिए ताकि देश को आगे लाया जा सके. किसान सम्मान निधि का दायरा बढ़ाया, सेना के जवानों के बच्चों और पुलिस के बच्चों के लिए भी अहम फैसले लिए. मानव अधिकारों से जुड़े अहम बिल संसद में लेकर आए हैं. सबको साथ लेकर चलने के लिए जितने काम हो सकते हैं हम तुरंत आते ही वो काम किए हैं.

जिसका कोई नहीं सरकार उसके लिए:मोदी

पीएम मोदी ने कहा कि जनता के लिए जूझना, खपना 5 साल की तपस्या के फल के रूप में मिला है. कौन हारा, कौन जीता यह मेरी सोच का हिस्सा नहीं है. देशवासियों के सपने और उनकी आशा मेरी नजर में रहती है. 2014 में जब जनता ने मौका दिया और सेंट्रल हॉल में वक्तव्य देने का मौका मिला तो मैंने कहा था कि मेरी सरकार गरीबों को समर्पित है. 5 साल बाद संतोष के साथ कह सकता हूं जो संतोष जनता ने ईवीएम का बटन दबाकर व्यक्त किया है. प्रताप सारंगी जी और हिना गावित ने जिस तरह से विषय को प्रस्तुत किया उसके बाद मैं कुछ भी न बोलूं फिर भी बात पहुंच जाती है. देश के जितने भी महापुरुष हुए उन्होंने एक बात हमेशा कही, उन्होंने आखिरी छोर पर बैठे इंसान की भलाई की बात कही. पिछले पांच साल के कार्यकाल में हमारे मन में यही भाव रहा जिसके कोई नहीं उसके लिए सिर्फ सरकार होती है.

कांग्रेस पर PM मोदी का निशाना

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि सदन में कहा गया कि हमारी ऊंचाई को कोई कम नहीं कर सकता. ऐसी गलती हम नहीं करते, हम किसी की लकीर को छोटी करने में अपना समय बर्बाद नहीं करते, हम अपनी लकीर लंबी करने में जीवन खपा देते हैं. आप इतने ऊंची चले गए हैं कि आप जड़ों से उखड़ चुके हैं. आपका और ऊंचा होना मेरे लिए संतोष का विषय हैं क्योंकि आप जमीन खो चुके हैं. हमारा सपना ऊंचा होना का नहीं जड़ों की गहराई से जुड़ने का है ताकि देश को और मजबूती दी जा सके. आपको अपनी ऊंचाई मुबारक हो.

धन्यवाद प्रस्ताव पर पीएम मोदी का जवाब

प्रधानमंत्री मोदी ने धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान कहा कि इस प्रस्ताव का धन्यवाद देश की जनता का धन्यवाद है. एक सशक्त, सुरक्षित राष्ट्र का सपना हमारे देश के अनेकों महापुरुषों ने देखा है और उसे पूरा करने के लिए अधिक गति के साथ हम सबको मिलकर आगे बढ़ना है. आज के वैश्विक वातावरण में भारत को यह अवसर खोना नहीं चाहिए.

देश की आकांक्षाओं को पूरा करने में आने वाली हर चुनौती को हम पार कर सकते हैं. इस चर्चा में करीब 60 सांसदों ने हिस्सा लिया, जो पहली बार आए हैं उन्होंने अच्छे ढंग से अपनी बात रखी और चर्चा को सार्थक बनाने का काम किया. अनुभवी लोगों ने अपनी तरह से चर्चा को आगे बढ़ाया.

Spread the love

इंदौर