Sep 28 2022 / 3:14 PM

खार्किव में भारतीय नागरिकों हत के लिए नई एडवाइजरी जारी की

कीव। यूक्रेन में भारतीय दूतावास ने खार्किव में भारतीय नागरिकों हत के लिए नई एडवाइजरी जारी की है। इसके खार्किव को तुरंत छोड़ देना चाहिए, जल्द से जल्द पिसोचिन, बेजलुडोव्का और बाबे के लिए आगे बढ़ें। उन्हें आज 18.00 बजे (यूक्रेनी समय के अनुसार) तक इन बस्तियों तक पहुंचना होगा। यूक्रेन से भारतीय नागरिकों की निकासी के लिए वायु सेना ने अब तक चार उड़ानें शुरू की हैं। 

ज्ञात हो कि यूक्रेन और रूस के बीच तकरार अब भी जारी है। रूस की सेना यूक्रेन की राजधानी कीव पर लगातार बमबारी कर रही है। मिसाइलें दाग रही है। कीव में आम नागरिकों से बंकरों या घर के तहखानों में चले जाने के लिए कहा गया है। जानकारी के मुताबिक, खार्किव शहर जहां अबतक रूसी सैनिक एयरस्ट्राइक कर रहे थे, वहां रूस की लैंडिंग फोर्स उतर गई है। इसी के साथ ही हमले तेज कर दिए गए हैं। जब से रूस ने यूक्रेन पर हमला किया है, तब से वहां हजारों की संख्या में लोग फंसे हैं, जिसमें काफी तादाद भारतीयों की भी है। जिन्हें निकालने के लिए भारत का आपरेशन गंगा जारी है।

‘आपरेशन गंगा’ के तहत भारतीयों को रेस्क्यू करने के लिये गई नौवीं उड़ान यूक्रेन में फंसे 218 भारतीयों को रोमानिया की राजधानी बुखारेस्ट से लेकर मंगलवार देर रात नयी दिल्ली पहुंची है। नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया भी बुखारेस्ट एयरपोर्ट पहुंच गए हैं। ज्योतिरादित्य सिंधिया ने एयरपोर्ट पहुंचकर भारतीय नागरिकों और छात्रों से बातचीत की है। गौरतलब है कि खार्किव यूक्रेन का दूसरा सबसे बड़ा शहर है और यहां रूसी सेना लगातार हमले कर रही है। यहीं रूसी हमले के दौरान भारतीय छात्र नवीन की मौत भी हुई थी, वो कर्नाटक का रहने वाला था। भारतीय दूतावास की ओर से सुरक्षा के मद्देनजर पहले भी एडवाइजरी जारी की जा चुकी हैं।यूक्रेन में फंसे भारतीयों की सुरक्षित निकसी के लिए केंद्र सरकार आपरेशन गंगा का संचालन कर रही है।

Share with

INDORE