हे नाथ पशुपति नाथ यह क्या हो रहा है

हे पशुपति नाथ आपकी नगरी आपकी नज़रो के सामने

यह क्या हो रहा है कभी यंहा अन्नदाताओ पर गोलिया चलती है
तो कभी नन्ही सी जान दरिंदो की हैवानियत की शिकार हो रही है

मंद का शौर इनदिनों पुरे देश में सुनाई दे रहा है
पिछले साल इसी जून महीने में अन्नदाताओ की छाती छलनी करती हुई गोलियों की आवाज़ पुरे देश ने सुनी थी आज एक नन्ही परी चीख देश के कानो में गूँज रही है

हे नाथ यह आपकी नगरी में आपकी नज़रो के सामने क्या हो रहा है
हां कुछ लोग गूंगे बहरे होने का ढोंग भी कर रहे है
दुष्कर्मी तो दरिंदे- हैवान -बेशर्म थे ही लेकिन
शिव के साथियो को नेता को विधायक को तो पीड़िता से मिलने जाने पर धन्यवाद का रिटर्न गिफ्ट भी चाहिये
हे नाथ शिव के राज में यह क्या हो रहा है ?
आप भी सुन लीजिये इस मुल्क के मीलॉर्ड
इकाई दहाई पड़ने की उम्र में एक मासूम अपनी जिंदगी और मौत से संघर्ष कर रही है
कंधे पर स्कूल बैग लिए नन्ही जान को पाठ शाळा के बीच रास्ते से दरिंदो ने उसे चिकितशाळा पहुंचा दिया

स्वयं भू जगत मामा का टैग लगाए घोषणावीर

की वीरता उनके शासन में कम लच्छेदार भाषणों में ज्य्दा नज़र आती है जो की हकीकत से कोसो दूर ही रहती है
हां वैसे हमारे घोषणा वीर की एक चीज में मास्टरी है एक चेक बुक जेब में ही रखते है
तत्काल प्रभाव १० लाख से लेकर एक करोड़ का चेक साइन कर ही देते है

ट्रेजेडी चाहे कैसी भी हो मोमबत्ती गैंग एवं विपक्ष अपना धर्म पूरा कर ही लेता है मोमबत्ती जलाकर सूबे के मुख्या का इस्तीफा मांग कर इतिश्री कर ही लेता है

वैसे मन्दसौर झाबुआ पैटलवाद

एक प्रकार का वास्तु दोष साबित हो रहे है शिव के राज योग में यह नाथ आपकी नगरी में यह क्या और क्यों हो रहा है?

-त्रिनेत्र नियम शर्तें लागू
(वरिष्ठ पत्रकार राजा शर्मा से साभार)

Spread the love

3

इंदौर