Apr 22 2019 /
9:36 AM

इंदौर में चचेरी बहिन की फर्जी फेसबुक आई.डी. बनाकर गंदे कमेन्ट करने वाला सायबर सेल की गिरफ्त में

इंदौर। इंदौर में अपनी ही चचेरी बहिन की फर्जी फेसबुक आई.डी. बनाकर गंदे कमेन्ट करने वाला सायबर सेल की गिरफ्त में आया है। साइबर सेल इंदौर एसपी जितेंद्र सिंह ने बताया कि पारिवारिक जमीन विवाद के चलते अपने पिता के चचेरे भाई एवं उनके परिवार से आरोपी ईर्ष्या रखता था। इस ईर्ष्यावश उसने अपनी चचेरी बहिन के नाम से फर्जी फेसबुक आई.डी. बना डाली।

इस मामले में आवेदिका रूपाली (परिवर्तित नाम) द्वारा एक लिखित शिकायत प्रस्तुत की गई थी। इसमे बताया गया कि अज्ञात व्यक्ति द्वारा आवेदिका की फेसबुक पर बनी आई.डी. से फोटो लेकर आवेदिका के नाम से फर्जी फेसबुक आई.डी. बनाकर उसपर आवेदिका के निजी फोटो अपलोड किये गये तथा उक्त आई.डी. से गंदे कमेन्ट लेख किये गये।

उक्त शिकायत जाँच के लिए निरीक्षक अम्बरीश मिश्रा व उनि अम्बाराम बारूड को सौंपी गई। तकनीकी जानकारी के आधार पर पाया गया कि आरोपी मानेन्द्र सिंह उर्फ दीपक सिंह पिता बीरेन्द्र सिंह निवासी रीवा द्वारा आवेदिका के नाम एवं निजी फोटो का उपयोग कर फेसबुक पर फर्जी आई.डी. बनाई एवं गंदे कमेन्ट कर रहा है।

आरोपी से पूछताछ करने उसने बताया कि उसके पिता के चचेरे भाई से रीवा स्थित जमीन का, रास्ते को लेकर विवाद काफी दिनों से चल रहा है, जिससे दोनों परिवारों में मनमुटाव रहता है। इस पर ईर्ष्यावश पिता के चचेरे भाई व उनके परिवार को बदनाम करने की नियत से उनकी लड़की रूपाली (परिवर्तित नाम) की फर्जी फेसबुक आईडी बना ली और उस पर गंदे कमेण्ट भी लेख किये। आरोपी से घटना में प्रयुक्त किये गये मोबाईल एवं सिम जप्त किये गए।

आरोपी की गिरफ्तारी में उनि आशुतोष मिठास, उनि जितेन्द्र चौहान, उनि राजेन्द्र सिंह जाट, उनि संजय चौधरी, सउनि धीरज सिंह गौर, प्र. आर. मनोज राठौर, रामप्रकाश बाजपेयी, रामपाल, प्रभाकर महाजन, आरक्षक संजय गुर्जर, आशीष शुक्ला, पवन चौहान, रमेश भिड़े, विक्रांत तिवारी की भी भूमिका रही।

Spread the love

इंदौर