डुप्लीकेट वेबसाइट व गेमिंग एप बनाने वाले देवास के तीन युवक इंदौर साइबर सेल द्वारा गिरफ्तार

इंदौर। डुप्लीकेट वेबसाइट व गेमिंग एप बनाने वाले देवास के तीन युवको को इंदौर साइबर सेल द्वारा गिरफ्तार किया गया है।

इनके द्वारा Dream 11 जैसी दिखने वाली वेबसाईट को बनाया गया और Dream11 वेबसाईट का सोर्स कोड का उपयोग moneyworld2018.com नाम की साईट बनाने में किया।

इनके नाम विजय गांधी पिता सुरेश गांधी उम्र 31 साल निवासी 4/1, मनिहार बाखल, महात्मागांधी रोड, देवास, मुदित गुप्ता पिता कौशल कुमार गुप्ता उम्र 19 साल निवासी ए 11 फोरेस्ट कालोनी, वार्ड न. 21, मोती बंगला, सरदाना स्कूल के पास देवास और वरदान गांधी पिता महेश गांधी उम्र 26 वर्ष निवासी 4/1, मनिहार बाखल, महात्मा गांधी रोड, देवास है।

एसपी राज्य साइबर सेल इंदौर जितेंद्र सिंह ने बताया कि आरोपियों द्वारा उक्त वेबसाईट का नाम moneyworld2018.com रखा गया।

आरोपी विजय गांधी द्वारा आरोपी मुदित गुप्ता से यह Dream 11 जैसी दिखने वाली वेबसाईट तैयार करवाई गई।
moneyworld2018.com वेबसाईट पर खेलने वाले व्यक्ति के द्वारा पेमेंट करने के लिये गेटवे की आवश्यकता होने से आरोपी वरदान गांधी द्वारा स्वयं के दस्तावेजो का प्रयोग कर PayPal का गेटवे उक्त कंपनी के लिये उपलब्ध करवाया गया।

moneyworld2018.com पर खेलने वाले व्यक्ति को spinning wheel concept पर घोषित लकी नम्बर पर अपने द्वारा लगाये गये रुपयो का दस गुना रुपया रिटर्न मिलना बताया गया। चूंकि moneyworld2018.com सही तरीके से काम नही कर पाई इस कारण इस पर लगातार आरोपीगण द्वारा टेस्टिंग की गई।

चूंकि सोर्स कोड Dream 11 के प्रयोग किये गये थे, जिसकी वजह से ट्रेफिक Dream 11 के सर्वर पर डायवर्ट होने लगा। इस कारण Dream 11 पर DOS attack (Denial Of Service Attack) हुआ और Dream 11 के सर्वर पर अनावश्यक लोड बढ़ने की वजह से Dream 11 की सर्विसेस प्रभावित हो रही थी।

उन्होंने बताया कि आरोपी मुदित गुप्ता वर्तमान में BCA कर रहा है, साथ ही स्वयं की एक वेबसाईट CODEZESK के नाम से बनाई हुई है जिसके माध्यम से वह वेबसाईट डेवलपिंग का व्यापार करता है। आरोपी मुदित गुप्ता का स्वयं का सर्वर भी है जिस पर वह अन्य लोगो की वेबसाईट होस्ट करवाता है।

आरोपी विजय गाँधी ने बी फार्मा किया हुआ है जो कि फूड टेस्टिंग का कार्य करता है। जल्दी धनी बनने की सोच में उसके द्वारा Dream 11 जैसी वेबसाईट तैयार करवाई गई।
आरोपी वरदान गाँधी विजय गाँधी का चचेरा भाई है और DJ ( Disc Jockey ) है।

वह moneyworld2018.com वेबसाईट तैयार करवाने व संचालन करने में विजय गाँधी के साथ आथोराईज्ड पर्सन है।

इस मामले में आवेदक अमोल आप्टे, वाइस प्रेसीडेन्ट लीगल स्पोर्टा टेक्नोलोजिस प्रा. लि. 1802 टावर बी, पेनिनस्यूला बिजिनिस पार्क सेनापति बापट मार्ग लोअर पेरल मुम्बई द्वारा शिकायत की गई। जिसकी विवेचना पश्चात उक्त तीनों को गिरफ्तार कर पुछताछ की गई। आरोपी गण ने बताया कि आरोपी विजय गाँधी द्वारा आरोपी वरदान गाँधी व आरोपी मुदित गुप्ता की मदद से Dream 11 जैसी वेबसाईट व गेमिंग एप तैयार कर लोगो को उक्त वेबसाईट पर लोगो से रुपया लगवाकर खिलवाने हेतु एक वेबसाईट निर्माण की जिस पर खेलने वाले व्यक्ति को spinning wheel concept पर घोषित लकी नम्बर पर अपने द्वारा लगाये गये रुपयो का दस गुना रुपया रिटर्न मिलने का बताया गया। इस हेतु Paypal का गेटवे प्रयोग किया गया। उक्त वेबसाईट का नाम आरोपियो द्वार moneyworld2018.com रखा गया। dream 11 जैसी वेबसाईट दिखाने के लिये आरोपीगण द्वारा Dream 11 के सोर्स कोड का ही प्रयोग किया गया ताकि वेबसाईट की कार्य शैली व वेबसाईट का लेआउट Dream 11 जैसा दिखे और लोग moneyworld2018.com को भी Dream 11 का ही पार्ट समझ कर खेले।

उक्त आरोपीगण से moneyworld2018.com से संबंधित दस्तावेज, जिन मोबाईल नम्बर से आपस में उक्त वेबसाईट को कैसी डिजाईन करवाना है, के संबंध मे की गई बातचीत है, वे मोबाईल फोन व सिम, तथा जिस लैपटॉप का प्रयोग कर वेबसाईट बनाई गई उस लैपटॉप को (कुल 04 मोबाईल, 05 सिम, 01 लैपटॉप) जब्त किया गया है।

प्रकरण में आरोपियो द्वारा सोर्स कोड से छेड़छाड़ करने के कारण धारा 65 आई.टी. एक्ट का इजाफा किया गया है।

उक्त अनुसंधान मे निरीक्षक राशिद अहमद, उनि. आमोद सिंह राठौर, उनि. रीना चौहान, उनि. पूजा मुवेल, आरक्षक विवेक मिश्रा, आरक्षक गजेन्द्र राठौर, आरक्षक राहुल सिंह गौर की भूमिका रही।

Spread the love

इंदौर