अंततः विधायक दल ने कमलनाथ को चुना मप्र का मुख्यमंत्री, कोई उपमुख्यमंत्री नहीं होगा, 17 को शपथ

भोपाल।आखिरकार गुरुवार रात प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष कमलनाथ को दल की बैठक में मध्य प्रदेश का अगला मुख्यमंत्री चुन लिया गया।

बताया गया कि हैं फिलहाल कोई उप मुख्यमंत्री नहीं होगा। आज दिन में दिल्ली में राहुल गांधी के साथ हुए लंबे मंथन के पश्चात कमलनाथ व ज्योतिराज सिंधिया दिल्ली से भोपाल आए और रात करीब 11 बजे भोपाल में विधायक दल की बैठक शुरू हुई। उम्मीद है कि पहले चरण में 17 से 20 मंत्री इस मंत्रिमंडल में लिए जायेंगे।

सम्भवतः 17 तारीख सोमवार को दोपहर 1;30 बजे शपथ समारोह होगा। हालांकि “अधिकृत” तौर पर बताया गया है कि राज्यपाल से समय तय होने के पश्चात शपथ की तारीख व समय तय होगा।

ये बोले कमलनाथ

बैठक में कमलनाथ ने कह यह पद मेरे लिये मिल का पत्थर हैं। 13 दिसम्बर को इंदिरा जी छिन्दवाड़ा आयी थी। मुझे जनता को सौंपा था। ज्योतिरदित्य का “धनयवाद” जो मेरा समर्थन किया। इनके पिताजी के साथ मेने काम किया।

इसलिए इनके समर्थन पर बेहद ख़ुशी है। अगला समय चुनौती का है। हम सब मिलकर हमारा वचन पत्र पूरा करेंगे। मुझे पद की कोई भूख नहीं। मेरी कोई माँग नहीं थी। मेने अपना पूरा जीवन बिना किसी पद की भूख के कांग्रेस पार्टी को समर्पित किया। मेने संजय गांधी जी , इंदिरा जी , राजीव जी और अब राहुल गांधी के साथ काम किया।

सबसे बड़ी चुनौती कर्ज माफी

वैसे तो कमलनाथ सरकार के समक्ष कई चुनोतियाँ है लेकिन फिलहाल सबसे बड़ी चुनौती अगले 10 दिन में कर्ज माफी की है जो कांग्रेसमें अपने वचन पत्र में कही थी। इसके अलावा बेरोजगारों को भत्ता व अन्य बिंदु भी है।

इनमें से हो सकते हैं मंत्री

विधायक दल की आज की बैठक में मंत्रिमंडल को लेकर कोई चर्चा नहीं हुई लेकिन मंत्री बनाए जाने के लिए जो नाम चर्चा में है इनमें राजवर्धन सिंह दत्तीगाव, सज्जन सिंह वर्मा, उमंग सिंगार, हुकुम सिंह कराड़ा, जीतू पटवारी, तुलसीराम सिलावट, कलावती भूरिया, बाला बच्चन, आरिफ अकील, पी सी शर्मा, गोविंद राजपूत, सचिन यादव, लक्ष्मण सिंह, इमरती देवी, दीपक सक्सेना, प्रियवत सिंह, डॉ गोविंद सिंह, प्रधुम्न सिंह तोमर, के पी सिंह, जयवर्धन सिंह, कमलेश्वर पटेल, ,बिसहलाल सिंह, हिना कांवरे, तरुण भनोट, शुखदेव पासे, दिलीप गुर्जर, लखन सिंह यादव, विक्रम सिंह राणा, शशांक भार्गव, लखन घनगोरिया, प्रदीप जायसवाल ठाकुर सुरेंद्र सिंह में से लिये जाने की संभावना है। विजय लक्ष्मी साधो का नाम मंत्री के अलावा विधानसभा अध्यक्ष के लिए भी चल रहा है।

छत्तीसगढ, राजस्थान का सस्पेंस बरकरार

छत्तीसगढ व राजस्थान में सीएम कौन होगा इसको लेकर सस्पेंस बरकरार है. दिल्ली में दोनों राज्य के सीएम के नाम पर मंथन जारी है. राजस्थान के cm हेतु अशोक गहलोत और सचिन पायलट के बीच कश्मकश चल रही है। छत्तीसगढ में भूपेश बघेल, टीएस सिंह देव के बीच मुकाबला है। शुक्रवार को राहुल गांधी के समक्ष ही अन्तिम निर्णय होगा।

सूत्रों के अनुसार कोई विधायक अभी मंत्री पद की शपथ नहीं लेगा। अकेले कमलनाथ ही मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे।

Spread the love

इंदौर