Sep 23 2019 /
10:39 AM

इंदौर में ₹500 की रिश्वत में महिला सफाई कर्मी को 4 साल का सश्रम कारावास, जेल भेजा

इंदौर। इंदौर में मात्र ₹500 की रिश्वत में एक महिला सफाई कर्मी को जेल काटना होगी। इस महिला सफाईकर्मी को दोषी पाकर शनिवार को कोर्ट ने 4 साल के सश्रम कारावास व एक हजार रुपये अर्थदंड की सज़ा सुनाई। कोर्ट द्वारा सजा सुनाए जाने के बाद उसे न्यायिक हिरासत में जेल भेजने के आदेश दिए गए है।

विशेष जज यतीन्द्र कुमार गुरु की कोर्ट ने आरोपी सफाई कर्मी संगीता उर्फ इच्छा सौदे को भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत दोषी पाते हुए उक्त सजा सुनाई। वह इंदौर नगर निगम के वार्ड क्रमांक 57 के बिलावली झोन पर पदस्थ थी।

केस में लोकायुक्त की ओर से विशेष लोक अभियोजक जीपी घाटिया ने पैरवी की। मामला इस प्रकार है कि लगभग 4 साल पहले सुनील नायक नामक फरियादी ने लोकायुक्त में शिकायत की कि आरोपी द्वारा दीनदयाल उपाध्याय अंत्योदय स्वास्थ्य कार्ड बनाने के नाम पर ₹3000 रिश्वत मांगे की जा रही है और ₹2000 ले भी लिए हैं और ₹1000 और मांग रही है बाद में वह ₹500 मैं राजी हुई और रिश्वत की राशि लेकर अपने राऊ स्थित नंद विहार कॉलोनी पर बुलाया।

इस शिकायत पर 26 फरवरी 2015 को लोकायुक्त की टीम ने उसे ₹500 की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार कर लिया गया था।

Spread the love

इंदौर