Mar 20 2019 /
4:28 AM

50 परसेंट EVM और VVPAT का पर्ची मिलान कराया जाए, सुप्रीम कोर्ट पहुचे 21 विपक्षी दल, शुक्रवार को सुनवाई

दिल्ली। गुरुवार को देश के 21 से ज्यादा विपक्षी दलों के प्रमुख नेताओं ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की है। ये विपक्षी नेता 50 परसेंट EVM और VVPAT का पर्ची मिलान कराने की मांग कर रहे हैं।

उन्होंने सुप्रीम कोर्ट से चुनाव आयोग को ऐसा करने का निर्देश देने की मांग की है। सुप्रीम कोर्ट शुक्रवार को इस मामले पर सुनवाई करेगा। पिछले महीने 21 विपक्षी दलों ने चुनाव आयोग से लोकसभा 2019 चुनाव में कम से कम 50 फीसदी ईवीएम का मिलान वीवीपीएटी से कराने की मांग की थी।

आम आदमी पार्टी, कांग्रेस, समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी ने पिछले महीने एक ज्ञापन चुनाव आयोग को सौंपा था। इस ज्ञापन में नवंबर-दिसंबर में पांच राज्यों में हुए विस चुनावों के मद्देनजर कई संदेहास्पद गतिविधियों के बारे में बताया गया था।

पार्टियों ने कहा था कि ईवीएम और स्ट्रॉन्ग रूम के असुरक्षित होने और उससे छेड़छाड़ की खबरें मिली हैं। ज्ञापन में कहा गया था कि ऐसी खबरें भी हैं, जहां स्ट्रॉन्ग रूम में बिजली नहीं थी और सीसीटीवी भी काम नहीं कर रहा था।

Spread the love

इंदौर