Jul 17 2019 /
8:12 AM

इंदौर में कविता रैना हत्याकांड के बाद तनु राजोरिया की जघन्य हत्या के आरोपी बरी, शव के टुकड़े कर फ्रीज में रखे गए थे

इंदौर। मप्र के इंदौर शहर में कविता रैना के जघन्य हत्याकांड के बाद ऐसे ही एक और दहला देने वाले 24 वर्षीय तनु राजौरिया नामक युवती की हत्या के दोनों आरोपी बरी ही गए। इस हत्या में मृतका के शव के टुकड़े कर उसे फ्रिज में रखा गया था।

अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश सुधीर कुमार चौधरी की कोर्ट ने मृतका के पति आरोपी चंदन व उसके साथी महिम शर्मा को आरोप सिद्ध ना हो पाने पर दोषमुक्त करार दिया। आरोपियों की ओर से अधिवक्ता पवन राय, मयूर जोशी ने पैरवी की।

यह था मामला

आरोप था कि 17 मार्च 2017 को तनु राजौरिया की उसी के प्रेमी रहे पति चंदन ने अपने दोस्त महिम शर्मा के साथ मिलकर हत्या कर दी थी। यही नहीं शव को ठिकाने लगाने के लिए उसके शव के बाथरूम में टुकड़े कर एक दिन फ्रीज में रखे थे और बाद में बक्सों में उसे भरकर भागीरथपुरा के नाले, शनि मंदिर के पास पहाड़ी और ओंकारेश्वर नदी में फेंक दिए थे।

चंदन के 164 में बयान हुए थे

इस हत्याकांड पुलिस ने पति चंदन व उसके दोस्त महिम को गिरफ्तार किया था। चंदन के 16 अप्रैल 2017 को कोर्ट में 164 के बयान भी हुए थे। दोनों ने पुलिस कस्टडी में हत्या करने की बात भी कबूल ली थी लेकिन इस केस में पुलिस न तो हत्याकांड को साबित कर चुकी ना ही मृतका तनु राजौरिया के शव को खोज पाई थी।

इसी तरह मामले की जांच करने वाले पुलिस अधिकारी ने घटना स्थल के आस-पास के किसी भी व्यक्ति से पूछताछ नहीं की एवं जिन भी साक्षियों के बयान लिए थे उनके बयानों में विरोधाभास था। एडवोकेट राय व जोशी ने बताया कि इसके चलते कोर्ट ने उक्त दोनों आरोपियों को दोषमुक्त कर दिया।

गौरतलब है शहर में कविता रैना नामक महिला की ऐसी ही जघन्य हत्या कर लाश के टुकड़े कर फेके गए थे, लेकिन पुलिस की लचर विवेचना के चलते आरोपी दोषमुक्त हो गया था। इस मामले में शासन ने हाई कोर्ट में अपील दायर की है जो लंबित है।

Spread the love

इंदौर