Oct 21 2019 /
12:42 AM

400 से अधिक दिवंगत वकीलों के परिजन को शासन के एक लाख का इंतजार

इंदौर। प्रदेश सरकार द्वारा घोषित कल्याण योजना के तहत प्रदेश के दिवंगत होने वाले वकीलों के परिजनों को दी जाने वाली एक लाख रुपए की आर्थिक सहायता की राशि विगत एक साल से नहीं मिल रही है। इस कारण प्रदेश के करीब चार सौ से अधिक दिवंगत वकीलों के परिजन परेशान हो रहे हैं।

वकीलों की पंचायत में सन् 2012 में तत्कालीन मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान द्वारा घोषणा की गई थी कि मध्यप्रदेश शासन अधिवक्ता की मृत्यु के बाद उसके वारिस , नामिनी को एक लाख की राशि मुख्यमंत्री अधिवक्ता कल्याण योजना के अंतर्गत प्रदान करेगा।

इसी के चलते मध्यप्रदेश राज्य अधिवक्ता परिषद जबलपुर के सदस्य अधिवक्ताओं , जिनका निधन 1 अप्रैल 2013 या उसके बाद बाद हुआ है , के वारिसों – नामिनी को उक्त एक लाख की धन राशि प्रदान की जाती है ।

इंदौर अभिभाषक संघ के पूर्व सचिव गोपाल कचोलिया ने बताया कि मुख्यमंत्री अधिवक्ता कल्याण योजना के फंड में मध्यप्रदेश शासन से अनुदान राशि नहीं आने के कारण विगत करीब एक वर्ष से दिवंगत अधिवक्ता के वारिसों , नामिनी को यह राशि नहीं मिल पा रही है ।

इसके कारण उनके करीब चार सौ से अधिक परिजन को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है । उन्होंने विधि मंत्री से यह राशि जल्द जारी करने की मांग की है।

Spread the love

इंदौर