Aug 21 2019 /
11:22 AM

पूर्व कुलपति प्रो. बृजकिशोर कुठियाला को सुप्रीम कोर्ट से अंतरिम राहत गिरफ्तारी पर रोक

दिल्ली। माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति प्रो. बृजकिशोर कुठियाला को सुप्रीम कोर्ट से अंतरिम राहत मिल गई हैं। शीर्ष कोर्ट ने उनकी गिरफ्तारी पर स्टे कर दिया है।

उनकी ओर से सुप्रीम कोर्ट में पूर्व अटॉर्नी जनरल मुकुल रहतोगी व मध्य प्रदेश के पूर्व महाधिवक्ता पुरुषेन्द्र कौरव ने तर्क रखे। इसमें कहा गया कि मध्यप्रदेश में सरकार बदलने के बाद राजनीतिक द्वेषवश कुठियाला के खिलाफ झूठा मुकदमा कायम किया गया। सीनियर एडवोकेट कौरव ने बताया कि इन तर्कों के आधार पर सुप्रीम कोर्ट ने प्रोफेसर कुठियाला की गिरफ्तारी पर स्टे कर दिया।

गौरतलब है कि भोपाल स्थित माखनलाल चतुर्वेदी पत्रकारिता एवं संचार संस्थान में हुए घोटालों के सिलसिले में पूर्व कुलपति बी के कुठियाला जांच के दायरे में हैं। उनके खिलाफ EOW में विश्वविद्यालय में आर्थिक अनियमितताओं और नियुक्तियों में गड़बड़ी के प्रकरण दर्ज हैं।

Spread the love

इंदौर