Jun 25 2019 /
3:39 AM

इंदौर के एमवाय में 17 संदिग्ध मौतों पर हाई कोर्ट ने सरकार से मांगी रिपोर्ट

इंदौर। करीब 2 साल पहले एम वाय में जून 2017 में इंदौर के एमवाय में हुई 3 बच्चो सहित 17 लोगो की संदिग्ध मौत के मामले में शुक्रवार को हुई सुनवाई में हाई कोर्ट ने राज्य सरकार से जांच कमेटी की रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए हैं। जस्टिस एससी शर्मा व जस्टिस वीरेंद्र सिंह की डिवीजन बेंच में आज बहस के दौरान याचिकाकर्ता प्रमोद द्विवेदी की ओर से एडवोकेट मनीष यादव ने तर्क रखे कि उक्त घटना यदि सामान्य मौते थी तो सरकार द्वारा जांच कमेटी क्यों गठित की गई थी और कमेटी की रिपोर्ट आज तक न तो कोर्ट में प्रस्तुत की गई है ना ही खुलासा किया गया है।

एडवोकेट यादव ने बताया कि इस पर कोर्ट ने सरकार को रिपोर्ट प्रस्तुत करने हेतु आदेशित किया। अगली सुनवाई आगामी 9 मई को होगी। गौरतलब है दिनांक 22/6/17 को मीडिया रिपोर्ट्स के हवाले से ज्ञात हुआ था कि हॉस्पिटल में ऑक्सीजन बंद हो जाने के चलते 17 लोगो की संदिग्ध मौत हो गई थी। इसके खिलाफ यह जनहित याचिका दायर कर मांग की गई कि मृतको को 1 करोड़ तक मुआवजा तत्काल दिलाया जा कर उसकी वसूली दोषियों के वेतन से की जाए, हत्या और गैरइरादतन हत्या का मुकदमा दोषियों पर जिम्मेदारों पर दर्ज हो, मामले की जांच रिटायर्ड हाई कोर्ट जज की कमेटी करे, चिकित्सा मद में जारी करोड़ो ख़र्च होने के बाद भी लापरवाही के चलते होने वाले भ्रस्टाचार में लिप्त लोगो की जांच हो उन पर प्रकरण दर्ज हो आदि।

Spread the love

इंदौर