Oct 21 2019 /
12:23 AM

इंदौर की कोर्ट में रावण भक्त ने लगाया अनूठा केस, रावण ज्ञानी थे, उनके पुतला दहन पर लगे रोक

इंदौर। इंदौर की कोर्ट में शहर के रावण भक्त ने अनूठा केस (सिविल सूट) लगाया है। इसमे रावण को महाज्ञानी बताते हुए गुहार की गई हैं कि हर साल दशहरे पर उन्हें बुराई का प्रतीक बताकर होने वाले उनके पुतला दहन पर रोक लगाई जाए।

इसी के साथ रावण दहन करने वालों पर आपराधिक प्रकरण दर्ज करने की मांग भी की गई हैं।

यह केस महेश गौहर के साथ धर्मेंद्र शुक्ला व प्रहलाद शर्मा ने एडवोकेट हरीश शर्मा के माध्यम से लगाया है। इसमे कहा गया है कि रावण महाज्ञानी और परम शिवभक्त ब्राह्मण थे। कई लोगों के लिए वे आस्था के प्रतीक हैं। बड़ी संख्या में लोग उन्हें पूजते भी हैं। इतना बड़ा ज्ञानी होने के बावजूद उन्हें बुराई का प्रतीक बना दिया गया।

हर साल दशहरे पर उनका पुतला बनाकर दहन किया जाता है, इसे तुरंत रोका जाए। मामले में 25 सितंबर को सुनवाई होगी।

इंदौर में बना रखा है रावण का मंदिर

उल्लेखनीय है कि रावण भक्त परदेशीपुरा निवासी महेश गौहर ने अपने घर में रावण का मंदिर बना रखा है। मंदिर में रावण के 10 सिर के ऊपर नागदेव फन फैलाए हुए है। पूरे विधान से रावण का पूजन किया जाता है और मंदिर में सुबह शाम आरती होती है। इस आरती में घर के सभी सदस्य, बच्चे शामिल होते है।

Spread the love

इंदौर