इंदौर में रोज 90 से ज्यादा लोगों को काट रहे आवारा कुत्ते, हाईकोर्ट में हस्तक्षेप याचिका दायर

इंदौर। शहर में एक और जहां गायों को शहर से बाहर कर दिया गया है वही इंदौर की सड़कों पर अब आवारा कुत्तों का राज है। हालत यह है कि रात में गुजरने वाले लोगों से लेकर मार्निंग वाक वाले तक को ये आवारा कुत्ते अपना शिकार बना रहा है। सरकारी आंकड़ों पर भरोसा करें तो इंदौर में औसतन लगभग 90 लोग रोजाना इन कुत्तो का शिकार हो रहे हैं। नगर निगम को आम आदमी से लेकर नेता प्रतिपक्ष तक इसकी शिकायतें लगातार की जा रही है।

मेयर हेल्पलाइन व CM हेल्पलाइन पर भी अनेक शिकायते की गई उसके बाद भी इन आवारा कुत्तों पर किसी तरह का नियंत्रण नहीं हो पा रहा है। इस पर मजबूर होकर नेता प्रतिपक्ष फौजिया शेख की ओर से हाईकोर्ट में एडवोकेट अंशुमान श्रीवास्तव द्वारा हस्तक्षेप याचिका दायर की है।

इसमें कहा गया है कि ना तो नगर निगम इन कुत्तों के लिए शहर से बाहर है शेल्टर हाउस बना रहा है ताकि इन्हें पकड़ के वहां रखा जा सके ना हीं कुत्तों की नसबंदी का अभियान चल रहा है ताकि इनकी नस्लों को बढ़ने से रोका जा सके। याचिका में धाराओं का हवाला देते हुए कहा गया है कि इस समस्या पर नियंत्रण की कानूनन नगर निगम की ही जिम्मेदारी है।

कोर्ट से गुहार की गई है कि नगर निगम को इस बाबत निर्देशित किया जाए ताकि शहर की आम जनता इन आवारा कुत्तों का शिकार होने से बच सकें। गौरतलब है कि हाईकोर्ट में आवारा कुत्तों को लेकर पूर्व से एडवोकेट अमिताभ उपाध्याय के माध्यम से एक जनहित याचिका लंबित है, उसी के साथ सुनवाई हेतु यह हस्तक्षेप याचिका दायर की गई है जिस पर जल्द ही सुनवाई की संभावना है।

उल्लेखनीय है कि शहर में पूर्व में जहां करीब 35000 आवारा कुत्ते से वही इनकी संख्या अब लगभग बढ़कर 80000 होना बताई गई है।

Spread the love

इंदौर