Nov 29 2022 / 2:55 AM

8 march: International Women’s Day 2022: जाने क्यों मनाया जाता है अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस?

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस 8 मार्च को मनाया जाता है। कोरोना काल के दौरान लंबे अवकाश के बाद अब सभी स्कूल और कॉलेज खुल गए हैं। ऐसे में स्कूल-कॉलेजों में भी इस दिन को सेलिब्रेट करने की तैयारियां जोर-शोर से चल रही हैं।

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस का महत्व
महिलाओं को सम्मान और प्यार देने को लेकर समाज के लोगों को जागरूक करने और महिलाओं को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक करने जैसी चीजों को ध्यान में रखकर ही अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस मनाया जाता है।महिलाओं के हौसलों को बुलंद करने और समाज में फैले असमानता को दूर करने के लिए इस दिन का काफी महत्व है।आधी आबादी के सम्मान में इस दिन को मनाने के पीछे का उद्देश्य महिलाओं के अधिकारों को बढ़ावा देना है।

महिला दिवस को मनाने का उद्देश्य अलग-अलग क्षेत्र में अपनी प्रतिभा के दम पर लोहा मनवा रहीं महिलाओं की उपलब्धियों को सेलिब्रेट करना, उनके योगदान को याद करना है। महिला दिवस के मौके पर देश-दुनिया की महिलाओं की सामाजिक, आर्थिक, सांस्कृतिक और राजनीतिक उपलब्धियों का जश्न मनाया जाता है।

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस का इतिहास

युनाइटेड नेशन्स ने 8 मार्च 1975 को महिला दिवस मनाने की शुरुआत की थी लेकिन उससे पहले साल 1909 में ही इसे मनाने की कवायद की जा चुकी थी। दरअसल साल 1909 में अमेरिका में पहली बार 28 फरवरी को महिला दिवस मनाया गया था।सोशलिस्ट पार्टी ऑफ अमेरिका ने न्यूयॉर्क में 1908 में गारमेंट वर्कर्स की हड़ताल को सम्मान देने के लिए इस दिन का चयन किया था।वहीं रूसी महिलाओं ने पहली बार 28 फरवरी को महिला दिवस मनाते हुए पहले विश्व युद्ध का विरोध दर्ज किया था।रूस की महिलाओं ने ब्रेड एंड पीस की मांग को लेकर 1917 में हड़ताल की । हड़ताल फरवरी के आखिरी रविवार को शुरू हुई। यह एक ऐतिहासिक हड़ताल थी और जब रूस के जार ने सत्ता छोड़ी तब वहां की अन्तरिम सरकार ने महिलाओं को वोट देने के अधिकार दिया।यूरोप में महिलाओं ने 8 मार्च को पीस ऐक्टिविस्ट्स को सपोर्ट करने के लिए रैलियां निकाली थीं।

Share with

INDORE